पिता ने बताया- पहले सेना में जाना चाहता था बुरहान, नवाज शरीफ के UN में जिक्र करने पर ख़ुशी जाहिर की

Sep 26, 2016
पिता ने बताया- पहले सेना में जाना चाहता था बुरहान, नवाज शरीफ के UN में जिक्र करने पर ख़ुशी जाहिर की

8 जुलाई को एनकाउंटर में मारे गए बुरहान वानी के पिता ने अपने बेटे को लेकर कई खुलासे किए, उन्होंने बताया की जब वो 10 साल का था तो सेना में शामिल होना चाहता था. वो भारत के लिए क्रिकेट भी खेलना चाहता था,

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में बुरहान के पिता ने बताया कि उनके बेटे ने 5 अक्टूबर 2010 को उसने घर छोड़ दिया था. उसके बाद उनकी और बुरहान की सिर्फ दो-तीन मुलाकातें हुई थीं, वो भी 2-3 मिनट की. बतौर मुजफ्फर वानी, उन्होंने एनकाउंटर से दो महीने पहले बुरहान को मनाने की भरसक कोश‍िश की थी कि वो घर वापस आ जाए, लेकिन वो नहीं माना.

बुरहान के पिता ने कहा मुझे ख़ुशी है की UN में बुरहान का नवाज शरीफ ने जिक्र किया, UN में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा बुरहान वानी आतंकी नहीं बल्कि एक युवा नेता था. इस पर मुजफ्फर वानी ने कहा, ‘जब भगत सिंह अंग्रेजों के ख‍िलाफ लड़ रहे थे तो उन्होंने आतंकी कहा जाता था, लेकिन भारतीय उन्हें स्वतंत्रता सेनानी ही कहते थे.

मुजफ्फर वानी ने भरोसा दिलाया की उनका तीसरा बेटा बंदूक नहीं उठाएगा, बताया कि अप्रैल 2015 में उनका बड़ा बेटा भी सेना के हाथों मारा गया था. लेकिन यह भरोसा भी जताया कि उनका तीसरा बेटा बंदूक नहीं उठाएगा. उन्होंने बताया कि उनका बड़ा बेटा खालिद तब पिकनिक मनाने गया था, जब उसके सुरक्षाबलों ने मार गिराया था. पुलिस का मानना था कि वो बुरहान से मिलने गया था. मुजफ्फर वानी ने कहा कि खालिद को यातना देकर मारा गया. उसके शव पर खून का एक धब्बा भी नहीं था.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>