मसूद अजहर भाई रऊफ और दो अन्य के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी

Apr 09, 2016

एनआईए ने पठानकोट हमले की कथित साजिश रचने के आरोप में जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मौलाना मसूद अजहर के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया है.

एनआईए ने पठानकोट वायुसेना ठिकाने पर आतंकवादी हमले की कथित साजिश रचने के आरोप में जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मौलाना मसूद अजहर, उसके भाई अब्दुल रऊफ और दो अन्य लोगों के खिलाफ शुक्रवार को गैर-जमानती वारंट जारी किया.

मोहाली की एक विशेष एनआईए अदालत ने वायुसेना ठिकाने पर आतंकवादी हमला करने की कथित आपराधिक साजिश रचने के लिए अजहर, उसके भाई और आतंकवादियों के सहयोगी काशिफ जान और शाहिद लतीफ के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया. एक और दो जनवरी की दरम्यानी रात को वायुसेना ठिकाने पर प्रतिबंधित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने हमला कर दिया था, जिसमें सात सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई थी.

आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच एनआईए द्वारा प्रस्तुत किए गए साक्ष्यों के आधार पर विशेष अदालत ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया. अदालत के समक्ष आतंकवादियों और इस हमले में उनके सहयोगी जान और लतीफ के बीच टेलीफोन पर की गयी बातचीत को भी प्रस्तुत किया गया.
मौलाना मसूद अजहर अलवी
संयुक्त राष्ट्र में विवरण
जन्म : 10 जुलाई 1968
कद : 167 सेमी.
बनावट : गठीला बदन

अन्य विवरण- माथे पर छोटा काला मस्सा, निकला हुआ पेट, गोल चेहरा, जुड़ी हुई भौहें और मोटे होंठ.

वारंट इंटरपोल को भेजा जाएगा
इस गैर-जमानती वारंट को इंटरपोल को भेजा जायेगा. संयुक्त राष्ट्र में अजहर को आतंकवादी घोषित कराने के लिए भारत ने एक मजबूत मामला बनाया था लेकिन चीन ने इस कदम का वीटो कर दिया. इस मुद्दे को लेकर भारत ने चीन के समक्ष अपना कड़ा विरोध जताया था.

क्या हैं आरोप
►वायुसेना ठिकाने पर आतंकवादी हमला करने की कथित आपराधिक साजिश रचना

किस-किस पर वारंट
►अजहर, उसके भाई रऊफ और आतंकवादियों के सहयोगी काशिफ जान और शाहिद लतीफ,

मसूद की करतूतें
►2000 में जैश–ए-मोहम्मद का गठन
►25 दिसम्बर 2000 को जेएंडके के बादामी बाग आर्मी छावनी पर जैश का आत्मघाती हमला
►1 अक्टूबर 2001 को जम्मू-कश्मीर विस पर हमला
►13 दिसम्बर 2001 को भारतीय संसद पर हमला
►2 जनवरी 2016 को पठानकोट एयरबेस पर हमला

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>