ब्रिक्स बैठक से पहले चीन ने भारत को दिया झटका, मसूद अजहर और एनएसजी पर रुख में नहीं करेगा बदलाव

Oct 15, 2016
ब्रिक्स बैठक से पहले चीन ने भारत को दिया झटका, मसूद अजहर और एनएसजी पर रुख में नहीं करेगा बदलाव
भारत की मेजबानी में गोवा के पणजी में हो रही ब्रिक्स बैठक देश के लिए बहुत मायने रखने वाली है। खासतौर से चीन संग बनते-बिगड़ते रिश्तों को लेकर अहम चर्चा होने की उम्मीद है। कहा जा रहा है कि भारतीय दल ने इस बाबत पूरी तैयारी कर ली है। बैठक में चीन से द्विपक्षीय वार्ता के दौरान दो खास मुद्दे उठने की संभावना है। पहल एनएसजी में सदस्यता के भारत के दावे और चीन की ओर से जैश-ए-मोहम्मद मुखिया व पठानकोट हमले के मुख्य साजिशकर्ता अजहर पर पाबंदी से रोकने का मुख्य मुद्दा शामिल है। वार्षिक ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने के लिए आ रहे चीन के राष्ट्रपति से पीएम मोदी इन मुद्दों पर नाराजगी जताने के साथ भविष्य में सहयोग की मांग करेंगे।
बीजिंग ने कहा-दोनों मुद्दों पर चीन के रुख में कोई बदलाव नहीं
ब्रिक्स बैठक से पहले चीन के विदेश मंत्रालय मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने भारत की उम्मीदों को झटका दिया। शुक्रवार को कहा कि भारत के एनएसजी सदस्यता के दावे और मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र की ओर से आतंकवादी घोषित करने के नई दिल्ली की कोशिश पर चीन के रुख में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इससे साफ पता चलता है कि भारत की ओर से ब्रिक्स बैठक में मुद्दा उठाने के बाद भी चीन अपने रुख से टस से मस नहीं होने वाला। जिससे भारत को कोई सफलता खासकर इन दो बिंदुओं पर नहीं मिलने वाली।
फिर भी बड़ी सफलता मिली
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंधों में कुछ विवादों के बावजूद बड़ी सदस्यता मिली है। लेकिन एनएसजी  और अजहर के मुद्दों पर चीन के रुख में कोई बदलाव नहीं है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>