इस गांव में 50 साल से नहीं पैदा हुआ एक भी बच्चा

Oct 16, 2016
इस गांव में 50 साल से नहीं पैदा हुआ एक भी बच्चा
आईए हम रूबरू कराते हैं आपको ऐसे गांव से। जहां पिछले 50 साल से किसी महिला को बच्चा  पैदा नहीं हुआ। गांव की सीमा में कभी किसी महिला की डिलीवरी नहीं हुई। चौकिए मत। ऐसा नहीं है कि यहां की महिलाएं गर्भवती नहीं हो रहीं। मगर इसके पीछे अंधविश्वास का खेल है। सदियों से गांव के लोगों में एक डर समाया है कि गांव में अगर महिला ने बच्चे को  जन्म दिया तो वह मर  जाएगा या फिर दिव्यांग हो जाएगा। ऐसे में गर्भवती महिलाएं गांव में बच्चों को  जन्म  नहीं देती। अंधविश्वास में इस कदर डूबे इस गांव का नाम है सांका जागीर।
गांव से बाहर कमरे में होता है प्रसव
अंधविश्वास की जकड़न में गांव वाले इस कदर हैं कि गर्भवती महिलाओं का प्रसव सीमा से बाहर कराया जाता है। इसके लिए गांव के लोगों ने सीमा से बाहर एक छोटा से कमरा बनवा रखा है। जब कोई गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा से छटपटाती है तो उसे गांव से बाहर उसी कमरे में लाया जाता है। जहां किसी नर्स या फिर दाई के जरिए बच्चे की पैदाइश होती है। कुछ देर बाद जच्चा-बच्चा को घर लाया जाता है।
गांव के बुजुर्ग देते हैं तर्क
गांव के बुजुर्ग इस अंधविश्वास के पीछे बच्चा-बच्चा की हिफाजत का तर्क  देते हैं। कहते हैं कि उन्होंने पिछले  50 साल से किसी महिला को गांव में बच्चे को जन्म देते न देखा न सुना। कहते हैं कि प्राचीन समय गांव में श्यामजी का मंदिर था तो पूरे गांव को पवित्र बनाए रखने के लिए प्रसव बाहर कराने का तब फैसला हुआ था। उस समय कुछ लोगों ने इसे नहीं माना तो उनके बच्चों की मौत हो गई। जिससे डरकर अब गांव  की महिलाओं का प्रसव बाहर कराया जाता है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>