ब्लूमबर्ग ने छोड़ा राष्ट्रपति चुनाव लड़ने का इरादा

Mar 08, 2016

न्यूयार्क शहर के पूर्व मेयर माइकल ब्लूमबर्ग ने कहा है कि वह एक निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अमेरिकी राष्ट्रपति पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे.

क्योंकि उन्हें यह डर है कि तीन पक्षीय मुकाबले में डोनाल्ड ट्रंप जैसे उम्मीदवार का चयन हो सकता है और उनका मानना है कि ट्रंप का चयन देश को खतरे में डाल देगा.

ब्लूमबर्ग ने एक लेख में लिखा, ‘‘:राष्ट्रपति पद की: दौड़ की मौजूदा स्थिति, दोनों सदनों में रिपब्लिकन सदस्यों के वर्चस्व को देखते हुए, इस बात की पूरी संभावना है कि मेरी उम्मीदवारी से डोनाल्ड ट्रंप या सीनेटर टेड क्रूज का चयन हो सकता है. अपने विवेक के रहते मैं ऐसा खतरा नहीं उठा सकता.’’

74 वर्षीय अरबपति ब्लूमबर्ग ने फरवरी में सार्वजनिक तौर पर एक तीसरे दल का नेतृत्व करने के विचार की घोषणा की थी.

ब्लूमबर्ग ने विभाजनकारी अभियान चलाने के मुद्दे पर 69 वर्षीय ट्रंप पर निशाना साधा. तीन बार न्यूयार्क के मेयर रहे ब्लूमबर्ग ने कहा, ‘‘मैं कई साल से श्रीमान ट्रंप को यूं ही जानता हूं और हमारे बीच मित्रवत संबंध रहे हैं. मैं ‘द एप्रेंटिस’ पर आने के लिए भी दो बार सहमत हो गया था.’’

वित्तीय क्षेत्र की बड़ी कंपनी ब्लूमबर्ग के संस्थापक ने कहा, ‘‘लेकिन उन्होंने लोगों के पूर्वाग्रहों और डरों के दोहन के लिए जो प्रचार अभियान चलाया है, वह मेरी याद में अब तक का सबसे विभाजनकारी और उत्तेजक अभियान है.’’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘विदेशी मुस्लिमों को देश में घुसने से रोकने की धमकी देना हमारे देश के दो मूल मूल्यों पर सीधा हमला है. ये दो मूल्य हैं: धार्मिक सहिष्णुता और चर्च एवं सरकार के बीच विलगाव.’’

ब्लूमबर्ग ने कहा, ‘‘मेक्सिको के लाखों लोगों पर हमला बोलने और उन्हें निर्वासित कर देने का वादा, श्वेत लोगों को सर्वश्रेष्ठ मानने वालों (केकेके) के प्रति नाटकीय अनभिज्ञता जताना और चीन एवं जापान को व्यापार युद्ध की धमकी देना भी खतरनाक ढंग से गलत है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘इस तरह के कदम हमें देश में बांटकर रख देंगे और दुनियाभर में हमारे नैतिक नेतृत्व को कमजोर करेंगे. अंतिम नतीजा यह होगा कि हमारे शत्रु इससे मजबूत होंगे, हमारे सहयोगियों की सुरक्षा पर खतरा होगा और हमारे अपने पुरूष एवं महिला सैनिकों पर और भी बड़ा खतरा मंडराने लगेगा.’’

ब्लूमबर्ग ने टेड क्रूज की भी आलोचना की. उन्होंने कहा कि ‘‘आवजन के मुद्दे पर टेक्सास के सीनेटर की बयानबाजी में ट्रंप जितनी उग्रता नहीं है लेकिन यह भी कम कट्टर नहीं है.’’उन्होंने कहा कि क्रूज की ओर से विदेशियों का प्रवेश उनके धर्म के आधार पर प्रतिबंधित करने से इंकार किया जाना ट्रंप के रूख से कम विध्वंसक है लेकिन यह कम विभाजनकारी नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘‘हम इस देश को पहली बार दुनिया का सबसे महान देश बनाने वाले मूल्यों से मुंह मोड़कर  ‘अमेरिका को एक बार फिर महान नहीं बना सकते’. मुझे अपने देश से इतना अधिक प्यार है कि मैं एक ऐसे उम्मीदवार के चयन में भूमिका नहीं निभाना चाहूंगा, जो हमारी एकता को कमजोर करेगा और भविष्य को अंधकार में धकेल देगा. इसलिए मैं अमेरिकी राष्ट्रपति पद की दौड़ में प्रवेश नहीं करूंगा.’’

ब्लूमबर्ग ने लिखा, ‘‘हालांकि मैं अपने देश के सामने मौजूद विभाजनकारी चरमपंथ के खतरे के बारे में चुप भी नहीं रहूंगा. मैं किसी भी उम्मीदवार का समर्थन करने के लिए तैयार नहीं हूं लेकिन मैं सभी मतदाताओं से अपील करता रहूंगा कि वे विभाजनकारी अपीलों को खारिज करें और साथ ही यह मांग करें कि उम्मीदवार अंतरों को पाटने के लिए, समस्याओं को सुलझाने के लिए और एक ईमानदार एवं सक्षम सरकार देने के लिए समझदारी भरे, विशेष एवं वास्तविक विचार लेकर आएं.’’

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>