सत्ता में आने पर बीजेपी ने “गायों” को मरने के लिए छोड़ दिया: कांग्रेस

Aug 24, 2016
सत्ता में आने पर बीजेपी ने “गायों” को मरने के लिए छोड़ दिया: कांग्रेस

जयपुर। गाय के मुद्दे को अब तक BJP का प्रिय राजनैतिक मुद्दा समझा जाता था, लेकिन अब लगता है कि यह मुद्दा कांग्रेस को भी रास आ गया है। राजस्थान में विपक्षी दल कांग्रेस ने गोरक्षा का मुद्दा उठाकर सत्तारूढ़ BJP को घेरने का फैसला किया है। BJP ने गोरक्षा के मुद्दे को अपने चुनावी घोषणापत्र में भी जगह दी थी। कथित तौर पर 2 साल तक सरकारी उपेक्षा की शिकार होकर हिंगोनिया में सैकड़ों गायों की मौत के बाद कांग्रेस लेजिस्लेटिव पार्टी (CLP) ने इस मुद्दे पर आगामी विधानसभा सत्र में सरकार को घेरने का फैसला किया है। 1 सितंबर से राजस्थान विधानसभा का सत्र शुरू हो रहा है। हालांकि यह सत्र काफी छोटा होने की उम्मीद है। इसे मुख्य रूप से संसद द्वारा पास GST संशोधन बिल को प्रदेश में पास करने के लिए बुलाया गया है।

ये भी पढ़ें :-  जवानों के खराब खाने की क्वालिटी के मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

राजस्थान कांग्रेस के महासचिव गुरदास कामत की अध्यक्षता में मंगलवार को कांग्रेस मुख्यालय में एक बैठक हुई। इसमें पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, विपक्ष के नेता रामेश्वर दुदी, रमेश मीणा और CLP के गोविंद सिंह दोतासरा सहित कई पार्टी नेता मौजूद थे। बैठक के बाद दुदी ने कहा, ‘हिंगोनिया में हजारों गायों की मौत से जहां पूरा देश स्तब्ध है, वहीं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने वहां जाने की जरूरत भी नहीं समझी। आगामी विधानसभा सत्र में हम प्रदेश की सभी गोशालाओं में गायों की असमय मृत्यु के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराएंगे।’ इसी बैठक में अशोक गहलोत ने कहा, “BJP लगातार गाय के ऊपर राजनीति करती रही, लेकिन सत्ता में आने के बाद उसने गायों को मरने के लिए छोड़ दिया” गाय और गरीब की लड़ाई लड़ने के लिए हम सबको काम करना है।’

ये भी पढ़ें :-  तड़ीपार रहने के बाद हार्दिक पटेल ने लिखा- गुजरात जा रहा हूं, कमेंट मिला- तू पाकिस्तान जा

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected