बाल तस्करी रैकेट में बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली से हो सकती है पूछताछ

Mar 03, 2017
बाल तस्करी रैकेट में बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली से हो सकती है पूछताछ

पश्चिम बंगाल में बाल तस्करी रैकेट में कथित तौर पर शामिल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता जूही चौधरी को बुधवार को 12 दिनों के लिए आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) की हिरासत में भेज दिया गया। उनकी गिरफ्तारी से पश्चिम बंगाल की राजनीति में हड़कंप मचा हुआ है। बीजेपी नेताओ ने जूही चौधरी की गिरफ़्तारी को राजनीती से प्रेरित बताया।

सीआईडी के सूत्रों के मुताबिक, जासूसों ने एक डायरी बरामद की है, जिसमें चौधरी का बाल तस्करों और सहआरोपी मानस भौमिक से संबंधों के बारे में विवरण दर्ज है, जिन्हें इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार किया गया था।

डायरी के मुताबिक, चौधरी बीते दो फरवरी को मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती के साथ दिल्ली गईं और भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय से उन्होंने मुलकाता की। सबसे चौकाने वाला खुलासा तब हुआ जब डायरी में बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजवार्गीय और बीजेपी संसद रूपा गांगुली का नाम सामने आया। डायरी में लिखे होने की वजह से इस मामले में बीजेपी के दोनों नेताओ से पूछताछ हो सकती है। पुलिस के अनुसार फ़िलहाल हम जांच कर यह पता लगाने की कोशिश कर रहे है की इस मामले में दोनों नेताओ की क्या भूमिका है।

बाल तस्करी रैकेट में कथित तौर पर कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली का नाम आने से बीजेपी में ही हडकंप मचा हुआ है। विपक्षी दल लगातार बीजेपी पर हमला कर रहे है।

हालाँकि CID की तरफ से इस बात का खुलासा किया गया है। दरअसल पिछले साल चन्दन चक्रवर्ती के एक NGO के लाइसेंस को रिन्यू कराने के लिए जूही चौधरी कैलाश विजवार्गीय के जरीय रूपा गांगुली से दिल्ली में मिली थी। इसकी CCTV फुटेज CID के पास है। जूही को इस एवज में नॉर्थ बंगाल में रिजॉर्ट देने का वादा किया गया था। फर्जी कागजातों के आधार पर कम से कम 17 बच्चों को बेचने का काम चन्दन चक्रवर्ती के NGO से ही किया गया।

सीआईडी के अडिशनल DGP के अनुसार फ़िलहाल हम मामले की जांच कर रहे है और सबूत जुटा रहे है. हम प्रभावशाली लोगो की भी मामले में संलिप्ता की जांच कर रहे है. सही समय आने पर उचित कार्यवाही की जायेगी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>