पूर्ण बहुमत वाली भाजपा सरकार है , फिर राम मंदिर में देरी क्यों : संत

May 14, 2016

नई दिल्लि। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने सबसे बड़ा बयान दिया है। सिंहस्थ में राम मंदिर पर साधु-संतों की राय जानने के लिए पहुंचे मोहन भागवत ने कहा है कि राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर वो संतों की सलाह को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तक पहुंचाएंगे।
उज्जैन के काषिणी आश्रम में हुई इस मुलाकात के दौरान संतों ने मोहन भागवत से पूछा कि अब केंद्र में पूर्ण बहुमत वाली भाजपा सरकार है, फिर मंदिर बनाने में देरी क्यों हो रही है। मोहन भागवत ने कहा कि इस मुद्दे पर वह प्रधानमंत्री से चर्चा भी करेंगे. साथ ही भागवत ने ये भी कहा है कि मंदिर निर्माण मुद्दे पर वो संत समाज को भी प्रधानमंत्री से मिलवाने का काम करेंगे।

राममंदिर निर्माण के पक्ष में संघ प्रमुख मोहन भागवत इससे पहले भी दिसंबर 2015 से लेकर जनवरी 2016 के पुणे की छात्र संसद तक में तीन बार बयान दे चुके हैं। ये बयान इस लिहाज़ से भी अहम है, क्योंकि 2017 में उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव है। उज्जैन में सिंहस्थ के दौरान अखिल भारतीय संत और धर्म सम्मेलन में अयोध्या में राम मंदिर बनाने की तारीख को लेकर फैसला लिया है।
धर्म संसद में फैसला किया गया कि मंदिर निर्माण इसी साल 9 नवंबर (कार्तिक अक्षय नवमी) से शुरू होगा। धर्म संसद में साधु-संतों ने ऐलान किया हैं कि 9 नवंबर से जन्मभूमि परिसर के चारों ओर सिंहद्वार का निर्माण किया जाएगा।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>