मिस्ट्री सुलझाने पुलिस को तकनीकी जांच का सहारा

Jul 25, 2016

मिस्ट्री सुलझाने पुलिस को तकनीकी जांच का सहारा

बिलासपुर। नईदुनिया न्यूज

बिल्डर पुत्र गौरांग बोबड़े की मैग्नेटो मॉल के टीडीएस बार में हुई संदिग्ध मौत की की जांच कर रही पुलिस अब सीसी टीवी फुटेज के साथ ही तकनीकी सहारा ले रही है। अभी तक पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल सका है। लिहाजा, पुलिस अफसर अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है।

सूर्या हॉटल के पीछे सप्तश्रृंगी अपार्टमेंट निवासी श्रीरंग चम्पतराव बोबड़े के इकलौते बेटे गौरांग बोबड़े की बीते गुरुवार को देर रात संदिग्ध परिस्थितियों के बाद से पुलिस पर लीपापोती करने के आरोप लगने लगे हैं। इस घटना के दूसरे दिन आईजी विवेकानंद सिन्हा व एसपी मयंक श्रीवास्तव ने मौके का निरीक्षण किया। इसके साथ ही आईजी श्री सिन्हा ने बैठक लेकर जांच के बिंदु तय किए। उन्होंने एडिशनल एसपी प्रशांत कतलम के नेतृत्व में जांच कमेटी गठित की है। रविवार से कमेटी ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस सीसी टीवी फुटे के साथ ही आईजी व एसपी के निर्देशानुसार हर पहलुओं की जांच कर रही है। रविवार की रात पुलिस अफसरों की टीम मैग्नेटो माल पहुंची। इस दौरान उन्होंने पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर वैभव सोमावार से घटनास्थल का मेजरमेंट कराया। श्री सोमावार ने सीढ़ियों के साथ बार से नीचे तक की ऊंचाई की नापजोख की। अफसरों ने बताया कि तकनीकी जांच में गौरांग के एक गतिविधियों की जांच की जाएगी। मसलन वह किस स्थिति में चल रहा था। जहां सीसी टीवी लगे हैं, वहां उसके चलने की गति के साथ ही जहां फुटेज नहीं है। उसका भी आंकलन किया जाएगा। ताकि यह पता लगाया जा सके कि वह कहां से और कैसे नीचे गिरा होगा। उसके चलने की टाइमिंग की भी तकनीकी जांच कराई जा रही है। इसके साथ ही यह भी देखा जाएगा कि छत से कितनी ऊंचाई से वह गिरा होगा, जिससे उससे इतनी गंभीर चोटे आई।

ये भी पढ़ें :-  उप्र : चेकिंग अभियान में अब तक 109.79 करोड़ रुपये जब्त

पुलिस अफसरों ने परिजनों को दिलाया भरोसा

घर पहुंचकर दो घंटे तक परिजनों को दी समझाइश

गौरांग की मौत की जांच कर रही पुलिस अब उसके परिजनों का भरोसा जीतने की कोशिश कर रही है। लगातार लग रहे आरोपों के बाद रविवार को पुलिस अफसर उनके घर पहुंचे और दो घंटे तक चर्चा की। इस दौरान उन्होंने इस मामले की गंभीरता से जांच का भरोसा दिलाया।

गौरांग की मौत सीढ़ी से गिरने से होने की बात सामने आने के बाद परिजनों ने पुलिस की जांच पर सवाल उठाना शुरू कर दिया है। यहां तक की पुलिस पर असहयोगात्मक रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए प्रेस कांफ्रेस तक लेनी पड़ी। गौरांग की मौत सीढ़ी से गिरकर हुई है यह बात किसी के गले नहीं उतर रही है। उसकी हत्या की आशंका जताई जा रही है। यही वजह है कि परिजन निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे हैं। रविवार को एडिशनल एसपी प्रशांत कतलम के साथ ही सिविल लाइन टीआई नसर सिद्दिकी ने उनके परिजनों से चर्चा की। इस दौरान उनसे गौरांग के पिछले दिनों के साथ ही अन्य महत्वपूर्ण जानकारी जुटाई गई। इसके साथ ही यह भी पूछा गया कि आखिर उन्हें इस घटना से हत्या की आशंका क्यों है, क्या उसकी किसी दोस्तों से दुश्मनी थी। या फिर कभी कोई विवाद रहा होगा। हालॉकि, परिजनों ने इस तरह से किसी विवाद या दुश्मनी से इनकार किया है। उनका सिर्फ यही कहना है कि गौरांग की मौत स्वाभाविक या गिरने से नहीं हुई है। इस दौरान पुलिस अफसरों ने उन्हें बताया कि इस मामले की बारीकी से जांच की जा रही है। जांच में किसी तरह का कोई दबाव नहीं है। उन्होंने परिजनों को भरोसा दिलाया कि इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी और जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें :-  बिजनौर- सब्जी मंडी में लगी भीषण आग, व्यापारियो का भयंकर नुक्सान होने की संभावना

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected