फोटो से नहीं मिला चेहरा तो परीक्षार्थी होंगे वंचित

Jun 27, 2016

फोटो से नहीं मिला चेहरा तो परीक्षार्थी होंगे वंचित

बिलासपुर(निप्र)। पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय में 30 जून से सत्रांत परीक्षा शुरू होगी। इससे पहले सुरक्षा के मद्देनजर प्रबंधन ने व्यवस्था में बदलाव किया है। परीक्षा केंद्रों को विशेष निर्देश दिया गया है कि फोटो से चेहरे का मिलान न होने पर परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल न किया जाए।

मुक्त विश्वविद्यालय प्रबंधन ने सत्रांत परीक्षा में परीक्षार्थियों के लिए फोटो मिलान अनिवार्य कर दिया है। परीक्षा केंद्र में इनविजिलेटर के अलावा उड़नदस्ता भी इस पर नजर रखेगा। निर्देश में कहा गया है कि केंद्र में पहुंचने पर सबसे पहले परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र से फोटो मिलाया जाए। इनविजिलेटर के पास मौजूद दस्तावेज से भी फोटो का मिलान करना होगा। यदि फोटो मैच नहीं होता है तो नियमानुसार कार्रवाई कर विश्वविद्यालय को अवगत कराया जाए। ज्ञात हो की 30 जून से 8 अगस्त तक 70 परीक्षा केंद्रों में बीए, बी.कॉम, बीएससी, एमए, एमएससी, एमएसडब्लू, एलएलएम पूर्व, पीजीडीवाईएस, पीजीडीसीए और डीसीए समेत अन्य विषयों की परीक्षा होनी है। इसमें प्रदेशभर से 25 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे।

मुन्नी बहन कांड का असर

परीक्षा व्यवस्था में फोटो मिलान मुन्नी बहन कांड का असर माना जा रहा है। पिछले साल जगदलपुर के लोहंडीगुड़ा में एमए अंतिम अंग्रेजी के पेपर में स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप की पत्नी श्रीमती शांति कश्यप की जगह कोई और युवती परीक्षा देते पकड़ी गई थी। यूनिवर्सिटी ने इस मामले की जांच के बाद कई कर्मचारियों पर कार्रवाई भी की। फिलहाल मामला पुलिस के पास है। यही वजह है कि इस बार लोहंडीगुड़ा को परीक्षा केंद्र नहीं बनाया गया है।

सत्रांत परीक्षा को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इनविजिलेटर और उड़नदस्ता को विशेष जिम्मेदारी दी गई है। परीक्षार्थियों का फोटो मिलान अनिवार्य किया गया है।

डॉ. बंश गोपाल सिंह

कुलपति, पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विवि

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>