शहर की बहनों का स्नेह लेकर फौजी भाइयों की सूनी कलाई सजाने निकला रक्षा रथ

Jul 31, 2016

शहर की बहनों का स्नेह लेकर फौजी भाइयों की सूनी कलाई सजाने निकला रक्षा रथ बिलासपुर। नईदुनिया न्यूजधूप, बारिश, आंधी व तूफान, जैसी हर मुश्किल चुनौती के बीच हम देशवासियों की सुरक्षा और देश की आन-बान व शान के लिए जी जान लगा देने वाले हमारे फौजी भाई सरहद पर हर पल तैनात रहते हैं। अपने घर-परिवार से महरूम रहकर वे खास पर्वों में भी अपनों के साथ नहीं रह पाते। उन्हीं फौजी भाइयों को रक्षाबंधन के मौके पर चंद मौके की खुशी देने का बीड़ा नईदुनिया ने उठाया है, देशभर की बहनों की स्नेह भरी राखी पहुंचाकर। इसी कड़ी में शनिवार को रक्षा रथ शहर पहुंचा। हजारों की भीड़ जुटी और शहर की बहनों, स्कूली बच्चों और संगठनों की ओर से राखी, संदेश और उपहार लेकर रथ अनेक शहरों से होते हुए जम्मू के लिए रवाना हो गया। बहनों की राखी के बदले भाई रक्षा का वचन देते हैं लेकिन बिना किसी वचन में बंधे देश की रक्षा कर सभी को सुरक्षित जीवन देने वाले भाइयों के लिए राखियां भेजी। इससे अनकहा लेकिन पवित्र रिश्ता सरहद में बंधेंगा। रिश्तों की पवित्र भावना को बढ़ाने और फौजी भाइयों की सुरक्षा की कामना के साथ शनिवार को नईदुनिया का भारत रक्षा पर्व रथ दयालबंद स्थित श्रीगुरुनानक शिक्षण समिति से रवाना हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल उपस्थित थे। अध्यक्षता पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद ने किया। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीगुरुनानक शिक्षण समिति के राजेंद्र चावला मौजूद थे। कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन से हुई। दीप के प्रज्जवलित होते ही देशभक्ति के जज्बे के साथ ही भावनाओं का प्रकाश भी प्रकाशित हुआ। इस अवसर पर भारत रक्षा पर्व कार्यक्रम से अवगत कराते हुए नईदुनिया के संपादक डॉ.सुनील गुप्ता ने कहा कि नईदुनिया की ओर से हमेशा की समाज को दिशा देने सार्थक प्रयास किया जाता है। नईदुनिया ने भारत रक्षा पर्व के माध्यम से फौजी भाइयों के लिए देशभर की बहनों का स्नेह देने के पावन कार्य की शुरुआत की है। इसके माध्यम से जिन फौजी भाइयों की कलाई में राखी सजती है, वे लिफाफे में मिले नंबर पर संपर्क भी करते हैं। इससे एक मजबूत रिश्ते की शुरुआत होती है। इस अवसर पर बड़ी संख्या में स्कूली छात्राओं के साथ ही विभिन्न संस्थाओं के प्रमुख भी उपस्थित रहे। नईदुनिया की ओर से हर वर्ष फौजी भाइयों के लिए राखियों के साथ उपहार और मिठाइयां लेकर रक्षाबंधन के दिन उन तक पहुंचाने का यह पवित्र कार्य किया जाता है। फौजी भाई कर्तव्य की डोर से बंधे रहते हैं और त्योहार में भी अपनों से दूर रहते हैं। उन्हें खुशी देने और उन्हें भी खास होने के एहसास के साथ एक नहीं बल्कि हजारों बहनों की राखियों के साथ खुशियों की सौगात देने का पुनीत कार्य किया जाता है। भारत रक्षा पर्व को लेकर सभी में उत्साह देखते ही बन रहा था। सभी ओर देशभक्ति के जज्बे के साथ ही रेशम की डोर से बंधे पावन रिश्ते की महक से पूरा माहौल गुलजार होता रहा। इस अवसर पर राजेश मिश्रा, रामदेव कुमावत, हरवंश अजमानी, रमेश जायसवाल, अशोक विधानी, मीरा सिंह, भूपेंद्र साहू, शकिल, संतोष, संजय बरेठ, अनिल शर्मा, वेद प्रकाश साहू, मनोज तिवारी, निखिल राय, हेमंत तिवारी, शशिभूषण पांडेय, अनिमेष केशरवानी, नंद कुमार रजक, सुरेश पांडेय, योगेश्वर देवांगन, अशोक वानी सहित बड़ी संख्या में नईदुनिया परिवार के सदस्य उपस्थित थे। कार्यक्रम के अंत में नईदुनिया के ब्रांच मैनेजर प्रतीश सिन्हा ने आभार व्यक्त किया। अतिथियों की जुबानी हर साल रहता है इंतजार-अमरइस अवसर पर कार्यक्र्रम के मुख्य अतिथि नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि इस अभियान से हम सभी की भावनाएं जुड़ी रहती है। नईदुनिया की ओर से हम सभी के स्नेह और भावनाओं को लेकर देश की सीमा में तैनात जवानों तक पहुंचाने का यह पुनीत कार्य किया जाता है। नईदुनिया की ओर से देश सेवा की कड़ी में भारत रक्षा पर्व का आयोजन विगत 8 वर्षों से किया जा रहा है। जब से इस कार्यक्रम की शुरुआत हुई है तब से मैं इससे जुड़ा हूं। मुझे बेसब्री से भारत रक्षा पर्व का इंतजार रहता है। उन्होंने कहा कि देश की सीमाओं में विपरीत परिस्थितियों में हमारे फौजी भाई तैनात रहते हैं। वे पूरी निष्ठा के साथ देश की रक्षा करते हैं। उन्हीं के बुलंद हौसले की वजह से हमारा देश सुरक्षित है और हम अपने शहर में चैन की सांस ले रहे हैं। हमारा देश दो बार पाकिस्तान से और एक बाद चीन से युद्घ की विभिषिका झेल चुका है। फिर हम अपने सैनिक भाइयों की वीरता की वजह से सबसे ज्यादा सुरक्षित हैं। जवान अपने परिजनों से जुड़ी सभी भावनाओं को त्याग कर सिर्फ देशभक्ति के जज्बे के साथ सीमाओं में अपना देश धर्म निभाता है। ऐसे फौजी भाइयों के लिए हम ज्यादा कुछ तो नहीं कर सकते हैं, लेकिन उन्हें खास होने का अहसास करवा सकते हैं। नईदुनिया इस दिशा में सार्थक प्रयास करते हुए उनके लिए अभिनव प्रयास कर रहा है। इससे उनका हौसला बढ़ता है। देश सेवा और समाज सेवा में लगे लोगों के जीवन में हमेशा कष्ट रहता है, लेकिन जब समाज उनके कार्यों की सराहना करता है तो उनके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। नईदुनिया के भारत रक्षा पर्व रथ का फौजी भाइयों को भी बेसब्री से इंतजार रहता है। फौजी भाई जुड़ेंगे भावनाओं से- विवेकानंदइसी कड़ी में कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे आईजी विवेकानंद ने कहा कि नईदुनिया का भारत रक्षा पर्व अभियान देश सेवा की दिशा में अभिनव पहल है। सरहद पर तैनात जवानों के पास शहर की बहनों के हाथों से बनी राखी जब जाएगी, तब वे भी सभी से स्नेह की डोर से बंधेंगे। इसके साथ ही राष्ट्रीयता की भावना को भी मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से बच्चों का जुड़ना अच्छी पहल है। नईदुनिया फेसबुक और वाट्सएप जैसे सोशल मीडिया के जमाने में बच्चों को सही दिशा देने का कार्य कर रही है। वे बालपन से ही देश और देश की सीमाओं में तैनात फौजी भाइयों के जीवन को समझ सकेंगे और उनमें भी देशभक्ति का जज्बा पैदा होगा। उन्होंने अनुशासन का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि फौजी विपरीत परिस्थितियों में भी अपने काम को पूरी निष्ठा के साथ अनुशासन की वजह से ही कर पाते हैं। अनुशासन जीवन में सबसे महत्वपूर्ण है। फौजी भाइयों के साथ ही विद्यार्थियों के जीवन में भी अनुशासन आवश्यक कड़ी है। इससे ही हम अपने सपनों को साकार कर सकते हैं। इस अवसर पर उन्होंने रेल की पटरियों का उदाहरण देते हुए अनुशासन में रहने की सीख दी। नईदुनिया का सराहनीय प्रयास- चावलाकार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि श्रीगुरुनानक शिक्षण समिति के श्री चावला ने कहा कि नईदुनिया का अभियान सभी के लिए प्रेरणादायक है। इससे सभी में देशभक्ति की भावना का संचार होता है। विशेषकर स्कूल बच्चों में साहस और जोश का जज्बा पैदा होता है। उन्होंने अपने हाथों से बड़े ही स्नेह से राखियां बनाई हैं। इससे निश्चित ही सरहद पर सभी के स्नेह की डोर से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा। ऐसे आयोजन हमेशा होते रहना चाहिए। इससे बच्चों को बालपन से ही सैनिक भाइयों के विषय में जानने का अवसर मिलेगा। वे भी आगे चलकर देश सेवा व राष्ट्र निर्माण में सहभागी बनेंगे। ऐसे में उनके लिए भारत रक्षा पर्व अभियान किसी वरदान से कम नहीं होगा। इस कार्यक्रम के माध्यम से नईदुनिया ने सभी में देशभक्ति का रंग भरा है। मंत्री ने ली चुटकीइस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अग्रवाल ने चुटकी भी ली। उन्होंने कहा कि नईदुनिया की ओर से सामाजिक सेवा और राष्ट्र भक्ति के क्षेत्र में हमेशा ही सार्थक प्रयास होता है। वहीं कई लोगों को फोटो खिंचाने का शौक होता है और ऐसे सार्थक कार्यों में सहभागिता निभाते हुए उनका फोटो खिंचाने और छपाने का शौक पूरा हो जाता है। वरना कई लोग ऐसे होते हैं, जो कुछ भी नकारात्मक कार्य करते हुए भी फोटो खिंचा लेते हैं और छपवा भी लेते हैं। ऐसे सकारात्मक कार्यक्रमों से लोगों के शौक तो पूरे होंगे ही, साथ ही शहर में सकारात्मक ऊर्जा का भी संचार होगा। पूरे शहर में लोग अच्छे और नेक कार्यों से जुड़े रहेंगे। नईदुनिया को चाहिए कि वह इस दिशा में आगे भी कार्य करने आगे आती रहे।देशभक्ति गीतों ने बांधा समाकार्यक्रम में स्कूली छात्रों ने देशभक्ति गीतों पर रंगारंग प्रस्तुति देकर ऐसा समा बांधा की उपस्थित दर्शक भी देशभक्ति के रंग में रंगे रहे। इस दौरान तिरंगा भी शान से लहराता रहा। स्कूली बच्चों ने मन की वीणा से गूंजित.., मां शारदे.., वंदे मातरम.., देश रंगीला-रंगीला देश मेरा रंगीला.., सुनो गौर से दुनिया वालों बुरी नजर न हम पे.., जहां जाते हैं छा जाते हैं.., ऐ वतन, ऐ वतन तुझ पे .. जैसे एक से बढ़कर एक देशभक्ति गीतों में स्कूली छात्रों ने एक से बढ़कर एक नृत्य की प्रस्तुति दी। उपस्थित अन्य सभी छात्र-छात्राएं भी इस प्रस्तुति को देख उत्साहित होते रहे। जैसे-जैसे कार्यक्रम आगे बढ़ता गया वैसे ही लोगों का उत्साह भी बढ़ता गया। इन संस्थाओं की रही उपस्थितिनईदुनिया के भारत रक्षा पर्व में टीम फाउंडेशन, एचएसएम ग्लोबल पब्लिक स्कूल, त्रिमूर्ति पब्लिक स्कूल, महर्षि विद्या मंदिर मंगला, आधारशिला विद्या मंदिर, ड्रीमलैंड हायर सेकेंडरी स्कूल सरकंडा, देवकीनंदन हायर सेकेंडरी कन्या शाला, बर्जेस हिन्दी माध्यम स्कूल, हरि मॉडल हायर सेकेंडरी…

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>