बिहार के DM ने ट्रेन के आगे कूदकर किया सुसाइड, 7 दिन पहले हुई थी पोस्टिंग

Aug 11, 2017
बिहार के DM ने ट्रेन के आगे कूदकर किया सुसाइड, 7 दिन पहले हुई थी पोस्टिंग

बिहार के बक्‍सर जिले के डीएम और 2012 बैच के आईएएस अधिकारी मुकेश पांडेय ने गुरुवार को गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर सुसाइड कर लिया। जहाँ रात में डीएम की डेडबॉडी गाजियाबाद रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पर मिली है। उन्होंने अपने सुसाइड से पहले एक नोट भी लिखा है। इस लिखे सुसाइड नोट में उन्होंने किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया है। हालांकि नोट से साफ-साफ पता चलता है कि वे गहरे डिप्रेशन में थे, और उन्होंने इस कदम के लिए परिजनों से माफी भी मांगी है, साथ-साथ ये भी लिखा कि उनका जिंदगी पर से भरोसा ही उठ गया है।

मिली रिपोर्ट्स के मुताबिक मुकेश ने सुसाइड से पहले व्हाट्सप्प के जरिए अपने दोस्त को ये जानकारी दी थी कि, “होटल की 10 वीं फ्लोर से कूद कर आत्महत्या करने जा रहा हूं। मैं जीवन से निराश हूं। सुसाइड नोट होटल लीला पैलेस के कमरा नंबर 742 में मेरे नाइक के बैग में रखा है।’ आखिरी लाइन में उन्होंने लिखा है ‘आई एम सॉरी। आई लव यू ऑल। प्लीज फॉरगिव मी (मुझे माफ करो। मैं आप सबसे प्यार करता हूं। कृपया मुझे भूल जाएं।’

ये भी पढ़ें :-  हत्याचार: जब दलित महिला ने मजदूरी करने से मना किया तो काटी गयी उसकी नाक

जब उनके दोस्त को मुकेश का मैसेज मिला तो उसने तत्काल पुलिस से संपर्क साधा ताकि मुकेश की जान बचाई जा सके। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। पुलिस जब तक मुकेश पांडे को पकड़ पाती, वे वहां से गाजियाबाद चले गए और ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी। डीएम की लाश गाजियाबाद स्टेशन से 200 मीटर आगे यार्ड में रेलवे ट्रैक पर मिली। जहाँ उनकी जेब से पर्स और सुसाइड नोट बरामद हुआ। देर रात मुकेश पांडेय की पत्नी व ससुर भी मौके पर पहुंच गए।

उन्होंने अपने सुसाइड नोट में किसी को भी अपनी मौत के लिए जिम्मेदार नहीं ठहराया है। उन्होंने इस नोट में तीन मोबाइल नंबर दर्ज किये हैं। और नीचे लिखा है कि, मेरी मौत के बाद इन नंबरों पर जानकारी दी जाए। अभी फिलहाल पुलिस उनकी मौत को खुदकशी ही मान रही है। इस घटना की पुष्टि बिहार के पुलिस महानिदेशक पीके ठाकुर ने भी की है।

ये भी पढ़ें :-  चंडीगढ़ रेप: अलका ने कहा, निकम्मी सरकार से उम्मीद बिकुल न रखें, महिलाएं हथियार चलाना सीखें

पहली बार मुकेश बक्सर के डीएम बने थे। 2012 बैच के IAS अफसर मुकेश इससे पहले कटिहार के डीडीसी के पद पर कार्यरत थे। उन्होंने 3 अगस्त को ही बक्सर के डीएम का पद संभाला था। उन्होंने गुरुवार की सुबह मामा की तबीयत खराब होने की बात बता कर दिल्ली आए हुए थे। और ऐसा कहा जा रहा है कि, वह दिल्ली के एक होटल में रुके हुए थे। जहाँ उनकी किसी बात को लेकर पत्नी और ससुर से कहासुनी हो गई थी। उनके सुसाइड के बाद उन्होंने नोट में जो नंबर दर्ज किया था वो उनके सास-ससुर के ही हैं।

बता दें कि मुकेश बिहार के सारण (छपरा) के रहने वाले थे। उन्होंने 2011 में संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में देशभर में 14 वां स्थान हासिल किया था। बिहार कैडर मिलने के बाद मुकेश पांडेय की पहली पोस्टिंग गया में प्रशिक्षु IAS अफसर के पद पर हुई थी। उसके बाद उन्हें बेगूसराय के बलिया अनुमंडल का एसडीओ और फिर कटिहार का डीडीसी बनाया गया था।

ये भी पढ़ें :-  महिला ने की प्रधानमंत्री मोदी पर ‘देशद्रोह’ का मुकदमा दर्ज करने की मांग
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>