बिहार : प्रश्नपत्र लीक मामले में आईएएस गिरफ्तार, एसोसिएशन नाराज

Feb 24, 2017
बिहार : प्रश्नपत्र लीक मामले में आईएएस गिरफ्तार, एसोसिएशन नाराज

बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) की परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक मामले की जांच कर रही विशेष अनुसंधान टीम (एसआईटी) ने शुक्रवार को आयोग के अध्यक्ष सुधीर कुमार को गिरफ्तार किया है। वह भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी हैं। बिहार आईएएस एसोसिएशन ने उनकी गिरफ्तारी के खिलाफ जंग छेड़ने का ऐलान किया है। एसआईटी के प्रमुख और पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि सुधीर कुमार को सुबह झारखंड के हजारीबाग से गिरफ्तार किया गया। बीएसएससी के अध्यक्ष के चार रिश्तेदारों को भी गिरफ्तार किया गया है। इन सभी से पूछताछ की जा रही है।

इस मामले में आईएएस सुधीर कुमार की भूिंमका पहले से ही संदिग्ध रही है। मामला प्रकाश में आने के बाद उन्होंने मीडिया के सामने स्वीकार भी किया था कि नौकरी दिलाने के लिए उनके पास कई राजनेताओं के फोन आते थे। पुलिस कई बार सुधीर से पूछताछ कर चुकी है।

इस बीच, बिहार आईएएस एसोसिएशन में शामिल अधिकारियों ने शुक्रवार सुबह बैठक की। बैठक के बाद अधिकारियों ने कहा, “हम सुधीर कुमार की गिरफ्तारी के खिलाफ लड़ेंगे, एड़ी-चोटी एक करेंगे।”

उन्होंने कहा, “सुधीर ईमानदार छवि के अधिकारी रहे हैं। कुमार की गिरफ्तारी का तरीका भी सही नहीं है और उनके खिलाफ साजिश नजर आ रही है।”

आईएएस अधिकारियों ने मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह से मुलाकात कर अपना विरोध जताया। एसोसिएशन के सदस्य मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी मुलाकात कर इसमें हस्तक्षेप करने की मांग करेंगे।

प्रश्नपत्र लीक मामले में एसआईटी ने गुजरात के अहमदाबाद से एक प्रिंटिंग प्रेस के मालिक विनीत को भी गुरुवार को गिरफ्तार किया था। इस मामले में बीएसएससी के सचिव परमेश्वर राम सहित अब तक करीब 30 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

इधर, विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार ने सुधीर कुमार की गिरफ्तारी को दिखावा बताते हुए इस मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग की है।

हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि सरकार इस मामले में केवल अधिकरियों को फंसा रही है। इस मामले में कई और लोग शामिल हैं, जिनका नाम उजागर नहीं किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि बीएसएससी की इंटर (12वीं) स्तरीय पदों के लिए प्रारंभिक परीक्षा में प्रश्नपत्र और उसके उत्तर लीक होने के मामले में अहम सबूत मिलने के बाद बिहार सरकार ने आठ फरवरी को होने वाली परीक्षा रद्द कर दी। इस मामले की जांच की जिम्मेवारी एसआईटी को सौंपी गई है।

इस मामले में बीएसएससी के सचिव परमेश्वर राम और आयोग के डाटा एंट्री ऑपरेटर अविनाश कुमार को भी गिरफ्तार किया गया है। इस लिससिले में कई लोगों से पूछताछ की जा रही है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>