बिहार: बाढ़ में भी जातिवाद जारी, राहत सामग्री लेने के दौरान निचली जाति की महिला को भगाया

Aug 25, 2016
बिहार: बाढ़ में भी जातिवाद जारी, राहत सामग्री लेने के दौरान निचली जाति की महिला को भगाया

पटना। बिहार में गंगा सहित अन्य नदियों में हाल में आयी बाढ़ से पिछले 24 घंटे के दौरान 7 और लोगों की मौत होने के साथ 29.71 लाख आबादी प्रभावित है। बिहार आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक हाल में आयी बाढ़ से पिछले 24 घंटे के दौरान 7 और लोगों की मौत के साथ इससे मरने वालों की संख्या अब 29 हो गयी है।

बाढ़ से उपजी परिस्थितियों ने सांप और मेढ़क जैसे परस्पर विरोधी जंतुओं को साथ-साथ रहने पर मजबूर कर दिया है। लेकिन विभिन्न जगहों से बेघर हुए लोग राहत शिविरों में भी जाति और समाज की जंजीरों से आजाद नहीं हो पाए हैं। बाढ़ की विभीषिका के बीच मंगलवार को सामाजिक त्रासदी का यह सच बिहार विद्यापीठ और बीएन कॉलेजियट में बने शिविरों में सामने आया।

हिंदुस्तान पटना की खबर के अनुसार, बिहार विद्यापीठ भवन में बनाए गए राहत शिविर में जातियों के हिसाब से लोगों को ठहराया गया है। मंगलवार की दोपहर पौने दो बजे राहत सामग्री लेने के दौरान उच्च जाति के बाढ़ पीड़ितों ने निचली जाति की महिलाओं को भगा दिया। महिलाओं से कहा गया कि वे इस तरफ न आएं, क्योंकि ऊंची जाति के लोग उनके साथ खाना नहीं खा सकते। पीड़ित महिलाओं ने कहा कि मुखिया ने ही उन्हें अलग-अलग ठहराया है। इधर, बीएन कॉलेजिएट में बने राहत शिविर में भी कुछ ऐसी ही स्थिति दिखी। यहां राहत सामग्री लेने से लेकर खाना खाने के दौरान दलितों के साथ र्दुव्‍यवहार तक की घटनाएं सामने आईं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>