यूजी के 30 फीसदी पाठ्यक्रम में होगा बदलाव, अगले सत्र से लागू

Aug 02, 2016

यूजी के 30 फीसदी पाठ्यक्रम में होगा बदलाव, अगले सत्र से लागू

-नियुक्तियों और निर्माण में पारदर्शिता जरूरी, गड़बड़ी पर होगी कार्रवाई

भोपाल। नवदुनिया न्यूज

शिक्षा में गुणवत्ता लाने पुराने पाठ्यक्रम में बदलाव जरूरी है। पाठ्यक्रम में रोजगार मूलक विषय जोड़े जाने की आवश्यकता है। इसको देखते हुए यूजी के 30 फीसदी पाठ्यक्रम में बदलाव किया जाएगा। बदला हुआ पाठ्यक्रम अगले शिक्षण सत्र से लागू होगा। उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया ने सोमवार को बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस समारोह में यह बात कही। उन्होंने बताया कि पाठ्यक्रम में भ्रूण हत्या, जल प्रबंधन, पर्यावरण, संयुक्त परिवार सहित अन्य सामाजिक पहलुओं और रोजगार मूलक शिक्षा को जोड़ा जाएगा। इसके लिए सिलेबस समिति का गठन किया जा रहा है। उन्होंने सिलेबस में बदलाव के लिए छात्रों से भी सुझाव मांगे। इसके लिए छात्र सीधे मंत्री को पत्र लिख सकते हैं।

उच्च शिक्षा में गुणवत्ता का स्तर ठीक नहीं है। इस बात को स्वीकारते हुए मंत्री ने विश्वविद्यालयों को निर्देश दिए कि शैक्षणिक कैलेंडर का पालन कठोरता से करें और विवि में अनुशासन बनाया जाए। इससे भी गुणवत्ता ठीक होगी। नियुक्तियों के मामले में दो साल से चर्चा में चल रहे बीयू को लेकर भी मंत्री ने अपनी मंशा जाहिर कर दी। उन्होंने कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से चर्चा में कहा कि अगर उनके पास नियुक्तियों में गड़बड़ी के साक्ष्य आते हैं तो वे तत्काल कार्रवाई करेंगे। वहीं उन्होंने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को नियुक्ति प्रक्रिया में पारदर्शिता रखने के निर्देश दिए।

नहीं चाहिए जेएनयू जैसे विवि

कार्यक्रम के दौरान उन्होंने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विवि का जिक्र करते हुए कहा कि हमें प्रदेश में ऐसे विवि नहीं बनाना है, जहां देश विरोधी नारे लगाए जाते हैं। हमारे विश्वविद्यालयों के छात्रों में अनुशासन और राष्ट्रभक्ति हो, ऐसा माहौल बनाने की जरूरत है। कार्यक्रम के अध्यक्ष प्रो. एमडी तिवारी ने कहा कि विवि में शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने के लिए शैक्षणिक कैलेंडर का पालन किया जा रहा है।

बीयू में घट रहे हैं छात्र, नहीं हैं शिक्षक

विवि शिक्षक संघ की अध्यक्ष प्रो. नीरजा शर्मा ने इस मौके पर विवि की सच्चाई मंत्री के सामने रखी। उन्होंने कहा कि विवि में लगातार छात्रों की संख्या घट रही है। नियमित शिक्षक नहीं हैं। कर्मचारियों की कमी है। छात्रावासों में गड़ड़ियां सामने आ रही हैं। छात्रावासों में वार्डन और कर्मचारियों की नियुक्तियां लंबे समय से नहीं हुई हैं। शासन को इस ओर भी ध्यान देने की जरूरत है। इस मौके पर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर ठाकरे ने कर्मचारियों को नियमित किए जाने की मांग रखी।

मंत्री ने नाम पूछकर बांटी शील्ड

स्थापना दिवस समारोह के मौके पर मंत्री ने विवि के करीब 70 अधिकारी, कर्मचारियों का स्वागत किया। इस मौके पर उन्हें प्रमाणपत्र दिए गए। इस दौरान मंच पर अव्यवस्थाएं भी नजर आएं। किसी के नाम की शील्ड और प्रमाणपत्र किसी और को दिए जा रहे थे। यह देखने के बाद मंत्री ने नाम पढ़कर और स्वागत वाले कर्मचारियों से उनके नाम पूछकर शील्ड और प्रमाणपत्र दिए।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>