जिन्हें मंत्री नहीं बना पाए उन्हें संगठन में करेंगे एडजस्ट

Jul 15, 2016

जिन्हें मंत्री नहीं बना पाए उन्हें संगठन में करेंगे एडजस्ट

भोपाल। ब्यूरो। प्रदेश में सत्ता और संगठन से जुड़े फैसलों को अंतिम रूप देने के लिए गठित भाजपा कोर ग्रुप की गुरुवार को देर शाम मुख्यमंत्री निवास पर बैठक हुई। इसमें तय किया गया कि जिन्हें मंत्री नहीं बनाया जा सका, उन्हें संगठन में प्रमुखता से एडजस्ट किया जाएगा। विधायक और कार्यकर्ताओं में बढ़ते असंतोष को दूर करने के लिए मंत्रियों को जिम्मेदारी दी जाएगी। साथ ही मंत्रियों को प्रभार के जिलों में सक्रिय किया जाएगा, ताकि कार्यकर्ताओं से समन्वय बनाया जा सके।

सूत्रों के मुताबिक बैठक में तय किया गया कि जिन जिलों में कार्यकारिणी का गठन नहीं हो पाया है वहां प्राथमिकता के आधार पर इन्हें बनाया जाएगा। जहां कार्यकारिणी बन चुकी है पर नीचे की टीम नहीं बनी है, वहां भी इनके गठन की कार्रवाई की जाएगी, ताकि प्रशिक्षण के कार्यक्रम को आगे बढ़ाया जा सके। बैठक में शहडोल और नेपानगर उपचुनाव को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया।

मुख्यमंत्री ने कोर ग्रुप को बताया कि वे अपने युवा संवाद की शुरुआत शहडोल संसदीय क्षेत्र से ही करने जा रहे हैं। मंत्री-विधायकों को भी सक्रिय किया जा रहा है। मंत्रियों को जिले के प्रभार भी आवंटित कर दिए हैं। उन्हें कहा गया है कि वे महीने में दो दिन जिले में गुजारें। इसका फीडबैक मैं खुद लूंगा।

आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तय किया गया कि सत्ता और संगठन के बीच बेहतर तालमेल बनाया जाए। मंत्रियों की कार्यपद्धति में भी सुधार की जरूरत बताई गई, ताकि वे विधायक और कार्यकर्ताओं के लगातार संपर्क में रहें। अनुशासनहीनता के मामलों को लेकर तय हुआ कि इनका जल्द से जल्द निपटारा किया जाए।

बैठक में प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रभात झा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, थावरचंद गेहलोत, फग्गन सिंह कुलस्ते, संगठन महामंत्री सुहास भगत, वित्त मंत्री जयंत मलैया, उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल, पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा और कैलाश जोशी मौजूद थे। राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और जबलपुर सांसद राकेश सिंह बैठक में शरीक नहीं हो सके।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>