केंद्र ने नहीं दी पांच हजार टन दाल, राज्य ने फिर भेजा पत्र

Jun 17, 2016

केंद्र ने नहीं दी पांच हजार टन दाल, राज्य ने फिर भेजा पत्र

भोपाल। तुअर दाल के दाम को काबू में लाने के लिए केंद्र सरकार ने प्रदेश से मांग तो चाही पर अभी तक तुअर नहीं दी है। लिहाजा, राज्य सरकार ने केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्रालय को पत्र लिखकर तुअर देने के लिए कहा है। सरकार इसे मिलर्स को देगी और दाल लेकर राशन दुकानों से बिक्री कराएगी। वहीं, चना दाल को कंट्रोल ऑर्डर के दायरे में लाने के केंद्र सरकार के पत्र पर खाद्य विभाग ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। विभाग फिलहाल इसके पक्ष में भी नहीं है।

बढ़ती महंगाई को देख केंद्र सरकार ने दाल का इंतजाम करने के लिए पिछले साल तुअर और चना की खरीदी की थी। साथ ही विदेशों से भी तुअर आयात की। इस आयातित तुअर को राज्यों से लेने पत्र लिखा गया था। शुरुआत में तो प्रदेश सरकार इसमें हाथ डालने से पीछे हट रही थी, लेकिन बार-बार केंद्र सरकार के कहने पर पांच हजार टन तुअर लेने के लिए तैयार हो गई। खाद्य विभाग ने पिछले महीने केंद्र सरकार को प्रस्ताव भी भेज दिया पर अब तक तुअर नहीं दी गई है। विभाग ने इस तुअर को मिलर्स को देकर दाल राशन दुकानों से बिकवाने का फैसला किया है।

चना दाल पर अभी कोई फैसला नहीं

विभाग के प्रमुख सचिव अशोक बर्णवाल ने बताया कि केंद्र सरकार से तुअर मिलने पर आगे कार्रवाई की जाएगी। वैसे हम दालों के दामों पर नजर रखे हुए हैं। चना दाल को कंट्रोल के दायरे में लाने पर अभी कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है। वहीं, कृषि विभाग का कहना है कि तीन-चार साल बाद किसानों को चने का वाजिब दाम मिल रहा है। ऐसे में कंट्रोल ऑर्डर लागू करने पर व्यापारी खरीदी से पीछे हटेंगे और नुुकसान किसानों का होगा।

मंत्री ने दिया स्टॉक लिमिट का सुझाव

केंद्र सरकार द्वारा लगातार भेजे जा रहे पत्रों को देखते हुए खाद्य मंत्री विजय शाह ने चना दाल पर स्टॉक लिमिट लाने का प्रस्ताव दिया है। वे इस संबंध में मुख्यमंत्री से भी पिछले दिनों बात कर चुके हैं पर अंतिम निर्णय होना बाकी है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>