छात्रों को देश भक्ति का पाठ पढ़ाएगा मप्र मदरसा बोर्ड

Jul 26, 2016

छात्रों को देश भक्ति का पाठ पढ़ाएगा मप्र मदरसा बोर्ड

भोपाल। मप्र मदरसा बोर्ड मुस्लिम विद्यार्थियों को अन्य विषयों के साथ देश भक्ति का पाठ भी पढ़ाएगा। इस्लाम की रोशनी में हुब्बुल वतनी (देशभक्ति) का कोर्स तैयार करवाया जा रहा है। इसके लिए मदरसा बोर्ड ने राज्य शिक्षा केंद्र से देशभक्ति पाठ्यक्रम के लिए साहित्य मांगा है।

देश भक्ति को पाठ्यक्रम में शामिल कर कक्षा पहली से आठवीं तक इसे पढ़ाया जाएगा। इसका मकसद इस्लाम में वतन की मोहब्बत के पैगाम को बच्चों तक पहुंचाना है। मदरसा बोर्ड के पदाधिकारियों का कहना है कि बच्चों में शुरू से ही देश भक्ति का जज्बा होता है। वर्तमान में वक्त की जरूरत को देखते हुए इसे एक पाठ्यक्रम का रूप दिया जाना जरूरी है।

ये भी पढ़ें :-  उप्र : मधुमक्खियों के हमले से बुजुर्ग की मौत

पाठ्यक्रम में देश के प्रति समर्पण और आजादी का महत्व बताया जाएगा। मौलाना आजाद और एपीजे अब्दुल कलाम जैसे महान लोगों की जीवनी पढ़ाई जाएगी,जिससे बच्चों को पता चल सके कि मुल्क उनके व्यक्तिगत फायदे से बढ़ा है। कोर्स तैयार करने में इस्लामिक विद्वानों की मदद भी ली जाएगी। मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष इमादुद्दीन ने बताया कि प्रदेश में मदरसा बोर्ड के अधीन करीब 2 हजार मदरसे संचालित हो रहे हैं।

इसमें साढ़े चार लाख विद्यार्थी शिक्षा हासिल कर रहे हैं। इन्हें देश भक्ति पर आधारित पुस्तक पढ़ाई जाएगी। यह पुस्तक उर्दू,हिन्दी व अंग्रेजी में भी होगी। अन्य विषयों की तरह इसका भी इम्तिहान लिया जाएगा,ताकि बच्चे उसका अध्ययन गहराई से करें। उन्होंने बताया कि राज्य शिक्षा केन्द्र से पाठयक्रम प्राप्त होने के बाद इसे मंजूरी के लिए शासन को भेजा जाएगा। मंजूरी मिलने के बाद अगले सत्र से इसे विद्यार्थियों को पढ़ाना शुरू कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें :-  रामभक्त अयोध्या में संकल्प मार्च निकालेंगे

क्या है मदरसा बोर्ड

मप्र मदरसा बोर्ड मदरसों में पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को आधुनिक शिक्षा उपलब्ध करवाता है। राज्य ओपन के जरिए बोर्ड विद्यार्थियों की परीक्षा करवाता है। मदरसा बोर्ड से प्राप्त डिग्री माध्यमिक शिक्षा मंडल से प्राप्त डिग्री के समकक्ष मानी जाती है। यहां से 12वीं की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को कालेज में एडमीशन मिल जाता है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>