महाराष्ट्र भी खरीदेगा मप्र की तरह प्याज

Jun 15, 2016

महाराष्ट्र भी खरीदेगा मप्र की तरह प्याज

भोपाल। एक या दो रुपए किलो में बिक रही किसानों की प्याज को वाजिब दाम दिलाने शुरू की गई सरकारी खरीदी की पहल को केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने सराहा है। उन्होंने बुध्ावार को वीडियो काुन्फ्रेंस के जरिए पत्रकारों से चर्चा में कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने भी मध्यप्रदेश की तरह प्याज खरीदी की बात कही है।

मुख्यमंत्री चौहान की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि वे खेती में स्वयं रूचि लेते हैं। किसानों को जीरो परसेंट पर कर्ज देने वाला अकेला राज्य मध्यप्रदेश ही है।

मोदी सरकार की दो साल की उपलब्ध्ाियां बताते हुए उन्होंने कहा कि कृषि विकास दर में वृद्धि हुई है। ई-बाजार के माध्यम से किसानों को एक मंच उपलब्ध्ा कराया जा रहा है, जहां किसान अपनी फसल को उचित दाम पर बेच सकते हैं। सिंचाई का रकबा बढ़ाने के लिए प्रध्ाानमंत्री सिंचाई योजना लागू की गई है, तो प्रध्ाानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से पुरानी योजनाओं की कमियों को दूर किया गया है। अब किसान डेढ़ और ढाई प्रतिशत प्रीमियम पर अपनी फसल का बीमा करा सकते हैं।

ये भी पढ़ें :-  तारिक फतह का सिर काटने वाले को दस लाख ईनाम का एलान

किसानों को बीमा भी ज्यादा मिलेगा। मध्यप्रदेश ने बीमा कंपनियों के चयन की प्रक्रिया को सबसे पहले पूरा किया है। नई योजना में नुकसान का आकलन करने के लिए उच्च स्तरीय तकनीक का सहारा लिया जाएगा। ड्रोन और स्मार्ट फोन के माध्यम से नुकसान को देखा जाएगा। उन्होंने मध्यप्रदेश की तारीफ करते हुए कहा कि यहां कृषि विकास दर लगातार दहाई के अंक में बनी हुई है।

बुंदेलखंड पैकेज के कामों का नाबार्ड ने सर्वे किया तो यह बात सामने आई कि उत्तरप्रदेश की तुलना में मध्यप्रदेश में राशि का बेहतर उपयोग हुआ है। सिंचाई के साध्ान बढ़े हैं। केंद्र सरकार ने मूल्य नियंत्रण फंड बनाया है। इसका इस्तेमाल करने वाला मध्यप्रदेश पहला राज्य है। प्याज खरीदी का फैसला किसान हित में है। उन्होंने ये स्वीकार किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में भंडारण के पुख्ता इंतजाम नहीं है पर सरकार को आए अभी दो साल हुए हैं। इस काम में तेजी लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-  बिहार विधानसभा में 'दंडवत' करते पहुंचे विधायक

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected