खेतों से बहे बीज का मुआवजा मांग रहे किसान

Aug 13, 2016

खेतों से बहे बीज का मुआवजा मांग रहे किसान

भोपाल। ब्यूरो । प्रदेश में अतिवृष्टि के चलते किसानों को न सिर्फ फसल गलने से नुकसान हुआ है, बल्कि हजारों हेक्टेयर खेतों में पानी भरने से सैकड़ों क्विंटल बीज बह गया है। किसान परेशान हैं, उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। किसानों की शिकायतें तहसील स्तर पर ही दबाई जा रही हैं।

प्रदेश में 130 लाख हेक्टेयर रकबा में रबी फसल की बोवनी हुई है। प्रदेश में रुक-रुककर तेज बारिश का दौर जारी है। इस वजह से बुंदेलखंड, बघेलखंड, मालवा, निमाड़ आदि क्षेत्रों में खेती को खासा नुकसान हुआ है। सबसे ज्यादा नुकसान उन किसानों को हुआ है, जिन्होंने पहली ही बारिश के बाद बोवनी कर दी थी।

ऐसे खेतों में कई दिनों तक पानी भरे रहने से फसल गल गई है, जबकि नदी, नालों में बाढ़ आने से किनारों पर स्थित खेतों से बीज बह गया है। सूत्र बताते हैं कि किसान लगातार नुकसान की शिकायतें कर रहे हैं, लेकिन जिलों में कोई अफसर सुनने को तैयार नहीं है। कई किसान तो राजधानी आकर वरिष्ठ अफसरों को आपबीती बता रहे हैं।

उधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अतिवृष्टि से हुए नुकसान का आकलन करने व मुआवजा देने को कहा है, लेकिन इसमें सिर्फ रसूखदार किसानों की सुनी जा रही है। कृषि विभाग के सर्वे में अब तक 18 हजार 400 हेक्टेयर रकबे में फसल खराब होना सामने आया है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>