भोपाल नहीं, अब इंदौर में प्लांट लगाएगा माइक्रोमैक्स

Aug 01, 2016

भोपाल नहीं, अब इंदौर में प्लांट लगाएगा माइक्रोमैक्स

भोपाल। ब्यूरो। राज्य सरकार द्वारा भोपाल में विकसित किए जा रहे इलेक्ट्रॉनिक मैन्यूफैक्चरिंग क्लस्टर (ईएमसी) की योजना को तगड़ा झटका लगा है। मोबाइल कंपनी माइक्रोमैक्स ने एमओयू से पीछे हटते हुए भोपाल में असेंबलिंग प्लांट लगाने से इनकार कर दिया है। कंपनी को अब इंदौर के पास स्पेशल इकोनॉमिक जोन की जमीन आवंटित कर दी गई है।

सूत्रों के मुताबिक, राज्य सरकार ने माइक्रोमैक्स को गांधीनगर में बने आईटी पार्क में प्लांट लगाने के लिए 6 एकड़ की जमीन भी दी थी। इस जमीन के लिए कंपनी ने लगभग ढाई करोड़ रुपए एडवांस जमा भी करा दिए थे, लेकिन अब कंपनी यहां प्लांट नहीं लगाना चाहती। इस प्रोजेक्ट के लिए सरकार आईटी इंवेस्टमेंट पॉलिसी के तहत माइक्रोमैक्स को करोड़ों रुपए की सब्सिडी दे रही है।

मप्र इलेक्ट्रॉनिक विकास निगम के एमडी एम शेलवेंद्रन ने बताया कि कंपनी के सामने भोपाल में कुछ व्यावहारिक परेशानियां आ रही थी, इसलिए उन्होंने इंदौर के पास जमीन मांगी। मप्र औद्योगिक केंद्र विकास निगम ने एसईजेड में कंपनी को जमीन आवंटित कर दी है। सूत्रों के मुताबिक इस जमीन की कीमत भोपाल में दी गई जमीन के मुकाबले कहीं ज्यादा है।

भोपाल से एयर कनेक्टिविटी नहीं

माइक्रोमैक्स कंपनी की ओर से इस यूनिट के ऑपरेशन का कामकाज देख रहे राकेश गुप्ता ने बताया कि एयर कनेक्टिविटी अच्छी नहीं होने से भोपाल में प्लांट लगाना मुश्किल था। इस वजह से इसे इंदौर शिफ्ट करने का फैसला लेना पड़ा। बिजनेस हब होने से कंपनी के लिए इंदौर के पास प्लांट लगाना ज्यादा बेहतर रहेगा। इससे कंपनी को लॉजिस्टिक की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

मोबाइल असेंबलिंग प्लांट के लिए हुआ करार माइक्रोमैक्स कंपनी मप्र मोबाइल असेंबलिंग प्लांट लगा रही है। मोबाइल के पार्ट्स बाहर से बनकर आएंगे और यहां उन्हें असेंबल किया जाएगा। कंपनी इस प्लांट में हर महीने 10 लाख मोबाइल फोन बनाएगी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>