प्रसन्ना पर्पल की 150 बसों का करार खत्म, अब होंगे नए टेंडर

Aug 06, 2016

प्रसन्ना पर्पल की 150 बसों का करार खत्म, अब होंगे नए टेंडर

भोपाल। नवदुनिया न्यूज

राजधानी में छह सालों से 150 बसों का संचालन करने वाली प्रसन्ना पर्पल कंपनी का करार बीसीएलएल से खत्म हो गया है। अब नए छह रूटों के लिए नए सिरे से टेंडर होंगे। टेंडर प्रक्रिया के बाद जब तक नए ऑपरेटर नहीं मिल जाते तब तक प्रसन्ना पर्पल ही इन बसों का संचालन करती रहेगी।

शुक्रवार को नगर निगम कमिश्नर छवि भारद्वाज, बीसीएलएल के सीईओ चंद्रमौली के साथ प्रसन्ना पर्पल कंपनी के सीईओ प्रसन्ना पटवर्धन के साथ बैठक हुई। जिसमें तय हुआ कि अब मौजूदा ऑपरेटर के साथ अनुबंध को रिन्यू नहीं किया जाएगा। इस तरह करार खत्म होने की घोषणा हो गई। बैठक में ऑपरेटर को निगम अफसरों ने अपनी नई पॉलसी स्पष्ट कर दी है। सीईओ पटवर्धन ने भी निगम के फैसले पर सहमति दी है। निगम कमिश्नर भारद्वाज ने बताया कि सभी 150 बसों का रिफरबिशमेंट होने के बाद नए ऑपरेटर की सौंपी जाएंगी। लेकिन जब तक नए ऑपरेटर नहीं मिल जाते तब तक ऑपरेटर बसें चलाता रहेगा। इसके लिए पटवर्धन ने सहमति दे दी है।

सात रूट नहीं अब रह जाएंगे छह रूट

वर्तमान में प्रसन्ना पर्पल कंपनी द्वारा सात रूटों पर इन 150 बसों का संचालन किया जा रहा है। अब सिटी और इंटरसिटी रूटों को मिलाकर संयुक्त रूप से सात की जगह सिर्फ छह रूट बनाए जाएंगे।

यह रहेगी नई पॉलसी

– चार क्लस्टर में टेंडर होंगे, इसमें जिस ऑपरेटर के बिड में कम रेट आएंगे उसका चयन किया जाएगा।

– नई शर्तों के अनुसार जो ऑपरेटर इन बसों का लेगा, उसे सिटी और इंटरसिटी रूटों में बसें चलाना अनिवार्य होगा।

– दो साल तक या दो लाख किमी इन बसों को चलाने के बाद ऑपरेटर ही अपने पैसों से नई बस उन रूटों पर उतारेगा।

– बसों का मेंटेनेंस ऑपरेटर ही करेगा।

इसलिए निगम ने लिया निर्णय

प्रसन्ना पर्पल का पांच साल का अनुबंध खत्म हो चुका था, फिर तीन साल के लिए फिर आपसी समझौते के आधार पर ऑपरेटर बसें चलाने के लिए तैयार हो गया। बाद में घाटा होने और अन्य कारणों से ऑपरेटर ने बस संचालन बंद करने की चेतावनी दी। इसके बाद निगम प्रशासन ने नई पॉलसी के तहत नए टेंडर की तैयारी शुरू कर दी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>