‘बेटी बचाओ’ का नारा ‘बेटी पिटवाओ’ में बदल गया: राज बब्बर

Sep 26, 2017
‘बेटी बचाओ’ का नारा ‘बेटी पिटवाओ’ में बदल गया: राज बब्बर

वाराणसी: BHU विवाद को लेकर उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि इंदिरा जी जेएनयू में विरोधी प्रदर्शन में मुड़कर पहुंचने की हिम्मत रखती थीं, लेकिन आज के प्रधानमंत्री गलियों से रास्ता बदल कर निकल गए, और BHU में प्रदर्शन कर रहीं काशी की बेटियों के बीच पहुंचने की हिम्मत नहीं दिखाई, और उसका नतीजा आपके सामने है कि बेटी बचाओ का नारा बेटी पिटवाओ में बदल गया।

बता दें कि उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर सोमवार को रामनाथ शोध संस्थान में आयोजित दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का जन्म शताब्दी वर्ष समारोह को संबोधित कर रहे थे जहाँ उन्होंने कहा कि “इंदिरा जी की विरासत छद्म राष्ट्रवाद के विपरीत उत्कट देशभक्ति की विरासत है।” वहीँ इस समारोह में शामिल अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद सुष्मिता देव ने कहा कि “शिक्षा संस्थान में महिलाओं का पिटना दुर्भाग्यपूर्ण है। इंदिरा जी की विरासत का संदेश यह है कि नारी का सशक्तीकरण शिक्षा से होगा, रसोई से नहीं।”

ये भी पढ़ें :-  जोधपुर पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह को जवानों ने ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ देने से किया इनकार

सांसद पीएल पुनिया ने कहा, “इंदिरा का जीवन किसान, मजदूर, गरीब और दलितों के उत्थान की लड़ाई के लिए था। आज दलितों के पास कहीं कुछ भूमि है तो उसके पीछे इंदिरा जी और उनका भूसुधार है।” सांसद पीएल पुनिया ने भी कहा कि, “इंदिरा का जीवन किसान, मजदूर, गरीब और दलितों के उत्थान की लड़ाई के लिए था. आज दलितों के पास कहीं कुछ भूमि है तो उसके पीछे इंदिरा जी और उनका भूसुधार है।” एक और सांसद संजय सिंह ने इस बारे में कहा कि “सतहत्तर के दौर में इंदिरा जी की बेमिसाल संघर्षशक्ति को जगा लीजिए, कांग्रेस की जीत पक्की हो जाएगी।”

ये भी पढ़ें :-  भाजपा सरकार में उप्र की कानून व्यवस्था को सुधारने की योग्यता नहीं: कांग्रेस
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>