बेला हत्याकाण्ड: ब्याज का पैसा न चुकाना पड़े इसलिए कर दी हत्या

Sep 06, 2016
बेला हत्याकाण्ड: ब्याज का पैसा न चुकाना पड़े इसलिए कर दी हत्या

दंतेवाड़ा- ब्याज में पैसे लेने के बाद पैसा न चुकाना पड़े इसलिए उधार देने वाले का ही मर्डर कर दिया और फिर उसके घर की जमीन में ही लाश गाड़ दी। इस सनसनीखेज हत्याकाण्ड के दस दिन बाद पुलिस ने इस बंगाली कैम्प निवासी दिलीप मण्डल को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। उसके पास से पुलिस ने चोरी हुए जेवरात भी बरामद किए है।
पुलिस ने हत्या के पीछे जो कहानी बताई है उसके मुताबिक दिलीप ने बेला रॉय से ब्याज पर पैसे ले रखे थे। लंबे समय से बेला पैसे के लिए तकादा कर रही थी। लेकिन वह बार-बार टालमटोल कर रहा था। बार-बार के तकादे से तंग आकर दिलीप ने बेला को ही रास्ते से हटाने की योजना बना डाली।

बेला रॉय घर पर अकेले रहती थी। इसलिए दिलीप को बेला की हत्या का मौका मिल गया। 27 अगस्त की रात वह बेला रॉय के घर में घुसा और उसकी हत्या कर लाश को घर के आंगन में ही एक फीट गहरे गड्ढे में गाढ़ दिया। इसके बाद उसने घर में रखे जेवर और पैसे को भी पार कर दिया और आराम से वहां से भाग निकला। बारिश ने बिगाड़ा खेल

दिलीप ने बड़े ही शातिर तरीके से इस वारदात को अंजाम दिया, लेकिन दो दिन बाद हुई बारिश ने पूरा खेल बिगाड़ दिया। बारिश से मिट्टी बह गई और बेला की लाश के हाथ ऊपर निकल आए। पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने जब मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में मिट्टी खोदा तो वह दो दिन से घर से गायब बेला राय की लाश निकली। दोस्त ने की मुखबिरी

इस हत्याकाण्ड का खुलासा दिलीप के ही किसी दोस्त ने ही किया है। यह बात सामने आ रही है, दिलीप ने यह बात अपने ही किसी दोस्त को बताई और उसने इसकी सूचना बेला के बेटे विपुल राय तक पहुंचाई। इसके बाद विपुल ने इसकी सूचना पुलिस को दी। इस आधार पर दिलीप को गिरफ्तार किया गया है। विपुल राय बेला राय के बेटे हैं और ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष भी हैं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>