इस ऑटो में बैठिये क्योंकि, ऑटो वाला दे रहा है फ्री WIFI यूज करने का मजा

Sep 07, 2016
इस ऑटो में बैठिये क्योंकि, ऑटो वाला दे रहा है फ्री WIFI यूज करने का मजा

आगरा- इफराक खान यूपी के ऐसे पहले व्‍यक्ति हैं जो ऑटो में फ्री वाइफाई की सुविधा देते हैं। वह कहते हैं कि इससे ताज देखने आने वाले पर्यटकों और आम लोगों को सहूलियत होती है। इस ऑटो ने आगरा में अलग पहचान बना ली है। इसे वाईफाई फ्री ऑटो कहते हैं।

इफराक के ऑटो वाईफाई सुविधा से लैस है। ऑटो पर वाई-फाई फ्री ऑटो देखकर हर कोई चौंकता है। वह कहते हैं कि ताजनगरी आगरा में पूरी दुनिया से पर्यटक आते हैं और वे इंटरनेट को जरूरत मानते हैं। जब कोई पर्यटक रेलवे स्टेशन से ताजमहल या होटल जाने के लिए ऑटो में बैठता है तो उसके मोबाइल में इंटरनेट नहीं होता, तो उसे परेशानी होती है। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, होटल और कलक्ट्रेट वाई-फाई फ्री है। ऐसे में हमने सोचा कि क्यों न ऑटो पर भी ऐसी सुविधा दी जाए।

ये भी पढ़ें :-  इस शहर में कोई भी रहने को तैयार नहीं, ये है वजह

इसी वजह से उन्‍होंने ऑटो में सवारियों के लिए फ्री वाई-फाई की सुविधा दे दी। इससे उनकी सवारी खुश हो जाती है और भाड़ा खुद ही अच्‍छा मिल जाता है। हॉटस्‍पॉट ऑन करके देते हैं इंटरनेट की सुविधा इफराक ने बताया कि उनके पास रिलायंस जियो का मोबाइल कनेक्‍शन है। अनलिमिटेड इंटरनेट का उपयोग वह अपने ऑटो के लिए कर रहे हैं। इसी मोबाइल का हॉटस्‍पॉट ओपने करके सवारियों को इंटरनेट की सुविधा देते हैं। सवारी के बैठने के दौरान ही वह इसका पासवर्ड बता देते हैं। पूरे रास्‍ते सवारी इंटरनेट का आनंद उठाती है।
क्‍या कहते हैं लोग
इस ऑटो की सवारी कर चुकीं प्रियंका ने बताया कि पहली बार उन्‍हें ऑटो में वाईफाई मिला है, वह भी फ्री। यह अलग तरह का अनुभव है।
दूसरी सवारी पिंकी ने बताया कि वाई-फाई फ्री लिखा देखकर वह ऑटो के पास आई थीं। यहां पूछने पर पता चला कि सचमुच इंटरनेट सर्फिंग करने को मिलेगा और एक्‍सट्रा चार्ज भी नहीं लगेगा।

ये भी पढ़ें :-  इस महिला को हैं गर्भवती रहनी की आदत, वजह जानकर आपके उड़ जाएंगे होश

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected