बैंक और रेलवे की ऑनलाइन सर्वि‍सेज होगी सस्‍ती

Aug 23, 2016
बैंक और रेलवे की ऑनलाइन सर्वि‍सेज होगी सस्‍ती
एयर इंडिया के बाद अब सरकार चाहती है भारतीय रेलवे और बैंकों से ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन चार्ज को कम करने की बात कह रही है। साथ ही, कैश का उपयोग घटाने और प्लास्टिक मनी को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने बैंकों से भी अपने चार्जेस घटाने का आग्रह किया है। सरकार ने कई ऐसे कदम उठाए हैं, जिनका फायदा अगले कुछ सप्ताह में दिख सकता है।

सरकारी सर्वि‍सेज के लिए कार्ड पेमेंट होगा सस्‍ता
कैशलेस इकोनॉमी को प्रमोट करने के लि‍ए सरकार ने कहा है कि‍ वह डैबि‍ट या क्रैडि‍ट कार्ड और नैट बैंकिंग के जरि‍ए होने वाली पेमेंट की ट्रांजैक्‍शन कॉस्‍ट खुद उठाएगी। फि‍लहाल, सरकार को दि‍ए जाने वाले पेमेंट जि‍से मर्चेंट डि‍स्‍काऊंट रेट (एम.डी.आर.) कहा जाता है वह कस्‍टमर्स को ही देना पड़ता है।

सरकारी कम्पनि‍यों से शुरूआत
सरकार की योजना के मुताबिक, एयर इंडिया ने अपनी वैबसाइट पर कार्ड के जरिए बुक होने वाले टिकट के ट्रांजैक्शन चार्ज खुद भरने का फैसला लिया है। बी.एस.एन.एल. भी इसे फॉलो कर रही है। नैशनल हाइवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया टैग इस्तेमाल करने वाले लोगों को कुछ कैशबैक की सुविधा देगी, जिससे उन्हें टोल प्लाजा पर भीड़ से निजात मिलेगी। साथ ही, लोग आराम से ड्राइविंग कर सकेंगे। पैट्रोल पंप्स ने भी क्रैडिट और डैबिट कार्ड के कुछ ट्रांजैक्शन्स को एम.डी.आर. के लिए पास कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने बैंकों से हर महीने कम से कम थोड़े से फंड ट्रांसफर को भुगतान मुक्त रखने का आग्रह किया है। सरकार का कहना है कि ए.टी.एम. मशीनों से हर महीने कम से कम 3 फ्री विद्ड्रॉल और NEFT से फंड ट्रांसफर करते समय 3 ट्रांजैक्शंस फ्री रखे जाने चाहिए।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>