सऊदी अरब में उनके साथ हुआ शारीरिक शोषण, अपने देश वापस आने को बांग्लादेशी महिला श्रमिकों ने डाला दूतावास में डेरा

May 03, 2017
सऊदी अरब में उनके साथ हुआ शारीरिक शोषण, अपने देश वापस आने को बांग्लादेशी महिला श्रमिकों ने डाला दूतावास में डेरा

सऊदी अरब में अच्छी नौकरी का लालच देकर एजेंटों द्वारा ले गए सैकड़ों बांग्लादेशी महिला कर्मचारी सऊदी अरब के रियाध और जेद्दाह दूतावास में इकट्ठी हो रही हैं। इनमे अधिकतर महिलाएं ऐसी हैं जिनका उनके मालिक द्वारा उत्पीड़न किया गया या उन पर जुल्म किये गए।

रियाध और जेद्दाह दूतावास मिलाकर यहाँ लगभग 329 ऐसी महिलाएं हैं जो बांग्लादेश दूतावास में अपने देश वापस भेजे जाने की आस लेकर इकट्ठी हुई है। सऊदी अरब में बांग्लादेश श्रम काउंसलर सरवर आलम ने बताया कि इससे पहले दूतावास की शरण में आयीं तकरीबन 502 महिलाओं को वापस भेजा जा चुका है। इन महिलाओं को 29 मार्च को देश वापस भेज दिया गया है। तब से अब तक 329 और लोगों ने यहाँ शरण ले ली है जिनमें से 74 जेद्दाह काउंसिल जनरल में और बाकि रियाध के बांग्लादेश दूतावास में हैं।

इन बांग्लादेशी महिला कर्मचारी ने आरोप लगाया है उन्हें जो काम दिलाने का वादा करके यहाँ लाया गया था। उन्हें वह काम नहीं मिला है। वे सऊदी अरब में निजी मालिकों के ज़रिये वैध परमिट पर कर्मचारी के तौर पर यहाँ आये थे।

इनमे से कुछ महिलाओ का कहना है कि उन्हें नर्स और चपरासी के काम के लिए सऊदी अरब बुलाया गया था लेकिन यहाँ आ कर उनसे सफाई कर्मचारी का काम करवाया गया। दूतावास में ज्यादातर महिलाओं ने बताया कि उनसे जबरन घरेलू नौकरानी के तौर पर काम लिया गया। उन्होंने बताया कि न तो उन्हें दिन में तीनों वक़्त खाना दिया गया और न ही पूरा पैसा। इन में से कुछ महिलाये नाम न छापने की शर्त पर बताया कि उनके नियोक्ताओं द्वारा उनके साथ शारीरिक शोषण और यौन उत्पीडन भी किया गया।

यहाँ जगह से अधिक लोग रह रहे हैं जिसके कारण कुछ लोग बीमार भी हो गए हैं। जेद्दाह कांसुलेट जनरल के अधिकारी अबू जरा ने बताया कि इन में कुछ लोगों को वापस भेजना आसान नहीं होगा क्योंकि वे अपने मालिकों के यहाँ से भाग कर आये हुये हैं।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>