बंगलादेश: हिन्दू पुजारी की मंदिर के बाहर कुछ अज्ञात हमलावरों ने की हत्या

Jul 01, 2016

बंगलादेश की राजधानी ढाका में एक हिन्दू पुजारी की मंदिर के बाहर कुछ अज्ञात हमलावरों ने धारदार हथियारों से हमला कर हत्या कर दी.

मुस्लिम बहुल देश में अल्पसंख्यकों एवं धर्मनिरपेक्ष कार्यकर्ताओं के खिलाफ होने वाले इस्लामियों के नृशंस हमलों की श्रृंखला में यह एक अन्य घटना है.

बंगलादेश की राजधानी ढाका से लगभग तीन सौ किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में स्थित झिनयीदाह जिला मुख्यालय के पास शुक्रवार को एक हिन्दू पुजारी की मंदिर के बाहर कुछ अज्ञात हमलावरों ने धारदार हथियारों से हमला कर हत्या कर दी.

झिनयीदाह जिला प्रशासन के प्रमुख महबूबुर रहमान ने बताया कि 45 वर्षीय श्यामनंदा दास नामक पुजारी सुबह मंदिर में पूजा की तैयारी कर रहा था तभी अचानक मोटर साइकिल पर सवार तीन युवकों ने उन पर चाकू से हमला कर उनकी हत्या कर दी.

ये भी पढ़ें :-  ब्रिटेन में पहली बार सर्वोच्च न्यायालय की प्रमुख होगी महिला

16 करोड़ की मुस्लिम बहुल आबादी वाले इस देश में पिछले कुछ महीनों इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा उदारवादी कार्यकर्ताओं, मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों और अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हमले किए जा रहे हैं.

रहमान ने बताया कि हमले की प्रकृति स्थानीय आतंकवादियों से मिलती जुलती है. उल्लेखनीय है कि अभी हाल ही में हुई कई हत्याओं की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है, हालांकि सरकार ने इस बात का खंडन किया है.

 

पश्चिमी झिनैगाह जिले में मोटरसाइकिल पर सवार तीन हमलावरों ने सात जून को 65 वर्षीय एक हिंदू पुजारी की उस समय हत्या कर दी थी जब वह मंदिर जा रहा था.

ये भी पढ़ें :-  अल-अक्सा में कार्रवाई रोकने का इजरायल से जॉर्डन का आग्रह

इससे पहले गिरजाघर के निकट अज्ञात हमलावरों ने पांच जून को एक ईसाई कारोबारी की धारदार हथियार से हत्या कर दी थी। इसी दिन इस घटना से कुछ ही घंटे पहले शीर्ष आतंकवाद रोधी पुलिस अधिकारी की धार्मिक कट्टरपंथियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

आतंकवादियों ने फरवरी में बांग्लादेश के एक मंदिर में एक हिंदू पुजारी की हत्या कर दी थी और उसकी मदद के लिए आने वाले एक श्रद्धालु को गोली मारकर घायल कर दिया था.

राजशाही शहर में आईएसआईएस आतंकवादियों ने अप्रैल में एक उदारवादी प्रोफेसर की गला रेतकर हत्या कर दी थी. इसी महीने आईएसआईएस के आतंकवादियों ने एक हिंदू दर्जी की उसकी दुकान पर हत्या कर दी थी और इस्लामवादियों ने बांग्लादेश की पहली समलैंगिक पत्रिका के संपादक और उनके मित्र की ढाका में बेरहमी से हत्या कर दी थी.

ये भी पढ़ें :-  न्यूजीलैंड में भीषण बाढ़ के कारण आपातकाल घोषित

भारतीय प्रायद्वीप में आईएसआईएस और अलकायदा ने कुछ हमलों की जिम्मेदारी ली है लेकिन सरकार बांग्लादेश में उनकी मौजूदगी से इनकार करती है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>