बांग्लादेश: चुनावों में हुई हिंसा में 12 लोगों की मौत

May 30, 2016

बांग्लादेश में पांचवें चरण के मतदान में हुई हिंसा में दो उम्मीदवारों और दो बच्चों समेत कम से कम 12 लोग मारे गए और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं.

देश में पहली बार स्थानीय निकायों के चुनाव पार्टी लाइन के आधार पर कराए जा रहे हैं और इस दौरान हुई यह अब तक की सबसे भयावह हिंसा है.
डेली स्टार की खबर के अनुसार ये मौतें जमालपुर, चटगांव, नोवाखाली, कोमिल्ला, पंचगढ़ और नारायणगंज में हुई हैं.
केंद्रीय परिषदों के लिए 45 जिलों के तहत 717 संघों के लिए होने वाले चुनावों के दौरान बेईमानी और अन्य कदाचार के आरोपों के चलते अध्यक्ष के समर्थकों और उम्मीदवारों के बीच शनिवार को झड़प हो गई, जिसमें 200 से ज्यादा लोग घायल भी हो गए. ये लोग गोलियां लगने पर घायल हुए थे.
इस प्रकरण में सबसे भयावह हिंसा का शिकार जमालपुर बना, जहां दो बच्चों समेत कम से कम चार लोग मारे गए.
इनकी मौत उस समय हुई, जब दो उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच झड़प को बंद करवाने के लिए पुलिस ने गोलियां चला दीं.
जिला पुलिस प्रमुख मोहम्मद निजामुद्दीन ने कहा, ‘‘पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए गोलियां चलाईं.’’
जमालपुर के उप आयुक्त मोहम्मद शाहाबुद्दीन खान ने कहा कि इस घटना की जांच के लिए अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट मोहम्मद आलमगीर की अध्यक्षता में एक समिति गठित कर दी गई है.
हिंसा में मारे गए दो उम्मीदवारों में एक बीएनपी के बागी अध्यक्ष और कोमिल्ला के तीतास से प्रत्याशी कमलउद्दीन और दूसरे चटगांव के कर्णाफूली में सदस्य पद के लिए खड़े मोहम्मद यासिन थे.
पांचवे चरण के मतदान से पहले, चुनाव वाले दिन हुई हिंसा में मारे गए लोगों की अधिकतम संख्या 10 थी. यह हिंसा इन छह चरणों के पहले चरण में हुई थी.
चुनावी कार्यक्रम की घोषणा के बाद साढ़े तीन माह में चुनाव संबंधी हिंसा में 100 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं.
अधिकतर लोग सत्ताधारी आवामी लीग के उम्मीदवारों के समर्थकों और लगभग 60 संघों में पार्टी विरोधियों के बीच हुई झड़पों के कारण हताहत हुए.
 अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>