[email protected]मसूद अज़हर: अड़ंगा डालने के लिए चीन को भारत ने फटकार लगाई

Apr 02, 2016

भारत ने चीन को यूनाइटेड नेशंस में जैश-ए-मोहम्‍मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को बैन करने के उसके प्रस्‍ताव में अड़ंगा डालने के लिए चीन को फटकार लगाई है.

मसूद अजहर पठानकोट आतंकी हमले का साजिशकर्ता है और भारत ने फरवरी में पहली बार यूएन से उस पर बैन लगाने का अनुरोध किया था.

भारत ने चीन को फटकार लगाते हुए कहा है कि उसने मसूद अजहर को बैन कराने का कदम उसकी समझ के बाहर है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता विकास स्‍वरूप ने कहा है कि भारत इस बात से काफी निराश है कि मसूद अजहर को सिक्‍योरिटी काउंसिल की एक कमेटी में लिस्‍टेड करने के भारत की एप्‍लीकेशन पर एक तकनीकी रोक लगा दी गई है.

इस कमेटी की स्थापना सिक्‍योरिटी काउंसिल के प्रस्ताव नंबर 1267, 1989 और 2253 के तहत हुई है. उन्होंने कहा कि यह भारत की समझ से परे है कि पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद को सिक्‍योरिटी काउंसिल में उसकी ज्ञात आतंकवादी गतिविधियों के लिए बैन किया गया था, लेकिन इसके चीफ को बैन करने पर तकनीकी रोक लगा दी गई है.

चीन ने मसूद अजहर पर बैन का विचार कर रही कमेटी से अनुरोध किया था वह इस पर फिलहाल रोक लगा दे. दो जनवरी को पठानकोट वायुसेना ठिकाने पर आतंकवादी हमले के बाद भारत ने फरवरी में यूनाइटेड नेशंस को एक चिट्ठी लिखकर अजहर को अलकायदा बैन कमेटी के तहत लिस्‍टेड करने के लिए तुरंत कार्रवाई की अपील की थी.

इस मुद्दे पर चीन ने नई दिल्ली का साथ न देते हुए इस्लामाबाद पर विश्वास दिखाय है. बीजिंग के इस कदम के बाद भारत ने चीन पर आतंकियों और पाकिस्तान को बचाने का आरोप लगाया है.

चीन ने दूसरी बार खुल कर पाकिस्तान का समर्थन किया है. इससे पहले भी चीन ने पिछले साल जून में छीने ने पाकिस्तान को अपना समर्थन दिया था. भारत ने अपने इस प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पारित करने के लिए पेइचिंग से संपर्क कर समर्थन मंगा था. मगर चीन ने हमेशा की तरह अपनी कूटनीतिक की तहत काम किया और चीन के समर्थन में उतर गई.

भारत की मसूद अजहर पर बैन लगवाने की मांग का समर्थन इस बार अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने दिया. इस तरह से भारत का पलड़ा भारी नजर आ रहा था. देखा जाए तो भारत की मांग भी बड़ी ही सामान्य थी क्यों की जैश-ए-मोहम्मद पर पहले से ही बैन है.
 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>