महंगा पडेगा पीठ दर्द को नजरअंदाज करना

Apr 27, 2016

कानपुर 12 अप्रैल (वार्ता) अनियमित खानपान और भागदौड भरी जिंदगी के बीच तेजी से उभर रही समस्या पीठ दर्द को आमतौर पर लोग बाग अधिक गंभीरता से नहीं लेते मगर चिकित्सकों का मानना है कि शुरूआती दौर में दर्द को नजरअंदाज करना उम्र बढने के साथ बडी परेशानी का सबब बन सकता है।

कानपुर स्थित लाला लाजपत राय अस्पताल के अस्थि रोग विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक रोहित नाथ ने यहां ‘यूनीवार्ता’ से कहा कि हाल के सालों में पीठ दर्द से ग्रसित मरीजों विशेषकर युवा वर्ग की तादाद में उल्लेखनीय इजाफा हुआ है।

बैक पेन से पीडित उनके पास हर रोज आने वाले कई मरीज ऐसे होते हैं जिन्हें सालों पहले कोई चोट लगी थी अथवा उनकी नियमित दिनचर्या में मोटरसाइकिल पर लंबी दौड, कम्प्यूटर पर देर तक काम करने के बोझ के अलावा फास्टफूड का अत्यधिक सेवन आदि शामिल था। उन्होंने बताया कि शहरों में ट्रैफिक के बढते बोझ के कारण आये दिन होने वाली दुर्घटनाओं में खासी बढोत्तरी हुयी है जबकि स्पीड ब्रेकरों की बढती तादाद, लैपटाप अथवा मोबाइल को घंटो एक अवस्था में बैठकर निहारने की प्रवृत्ति, जंक फूड के व्यापक इस्तेमाल से बढता मोटापा हड्डियों पर अतिरिक्त बोझ डाल रहे हैं। इसके अलावा स्कूली बच्चों के कंधो पर भारी भरकम बैग और युवाओं के लैपटाप बैग हड्डी की समस्या को बढावा दे रहे हैं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>