रिश्वत लेते गिरफ्तार औरंगाबाद हवाईअड्डा निदेशक

Aug 01, 2016

सीबीआई ने औरंगाबाद में चिकलठाणा हवाईअड्डा निदेशक को कथित तौर पर रिश्वत लेते समय गिरफ्तार कर लिया और उनके कार्यालय तथा घर पर छापेमारी की.

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि आलोक वार्ष्णेय को शनिवार को कथित तौर पर 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते समय गिरफ्तार किया गया.
उन्होंने बताया कि एक शिकायत के आधार पर सीबीआई ने शनिवार को वार्ष्णेय के हवाईअड्डा स्थित कार्यालय में जाल बिछाया जहां उन्हें पकड़ लिया गया.
रविवार को अधिकारियों ने कहा कि उनके आवास तथा हवाईअड्डा स्थित कार्यालय पर छापेमारी अभी जारी है.
सीबीआई सूत्रों ने बताया कि वार्ष्णेय के पकड़े जाने के बाद उनसे तीन घंटे तक पूछताछ की गई और शनिवार रात उन्हें पुणे ले जाया गया.

 

सीबीआई के प्रवक्ता ने बताया कि मलाड (पश्चिम) मुंबई आधारित एक निजी कंपनी से मिली शिकायत पर वार्ष्णेय के खिलाफ भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है.
प्रवक्ता ने कहा, ‘‘शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि गैर निर्धारित उड़ानों का हिसाब-किताब रखने वाले औरंगाबाद हवाईअड्डा निदेशक ने निजी कंपनियों से प्रति उड़ान रिश्वत की मांग की.’’
अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता ने यह भी आरोप लगाया कि निदेशक ने औरंगाबाद हवाईअड्डे पर गैर निर्धारित उड़ानों के वास्ते उनकी कंपनी के कर्मियों को जमीनी कार्य करने की अनुमति देने के लिए रिश्वत की मांग की.
सूत्रों ने बताया कि पूर्व में इस तरह की शिकायतें भी थीं कि वार्ष्णेय हवाईअड्डे की विस्तार योजना के तहत निर्माण के ठेके से संबंधित गड़बड़ियों में भी कथित तौर पर शामिल रहे हैं.
सीबीआई के पुलिस अधीक्षक एमआर कडोले ने निदेशक के आवास या कार्यालय से बरामद संपत्ति या कीमती चीजों के बारे में कोई ब्योरा देने से इनकार किया.
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>