इशरत जहां केस: पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री का BJP पर हमला, कहा- दस्तावेज गायब होने से किसे हो सकता है फायदा

Mar 15, 2016

पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम ने इशरत जहां मामले में भाजपा की ओर से उन पर किये जा रहे हमले का जवाब दिया.

उन्होंने कहा कि इस मामले जुड़े दस्तावेजों को पूर्व गृह सचिव जी के पिल्लई ने तीन बार देखा था और जानना चाहा था कि इससे किसको फायदा पहुंच सकता है, जो अब गायब है.

चिदंबरम का यह बयान ऐसे समय में आया है जब इस मामले से संबंधित फाइलों के गायब होने की जांच के लिए केंद्र सरकार ने सोमवार को तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति गठित की.

चिदंबरम ने कहा अब वे कह रहे हैं कि मामले से जुड़े दस्तावेज गायब हैं. दस्तावेज गायब होने से किसे फायदा हो सकता है.

गौरतलब है कि इससे पहले पूर्व गृह सचिव पिल्लई ने दावा किया था कि कांग्रेस सरकार के दौरान चिदंबरम जब गृह मंत्री थे उस समय इशरत जहां से संबंधित फाइलों को बदला गया था जिससे यह साबित नहीं किया जा सके कि वह किसी आतंकवादी संगठन से जुड़ी हुई थी.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इशरत से संबंधित फाइलों के गायब होने के मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति गठित की है.

मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव (गृह) बी के प्रसाद को इस समिति का अध्यक्ष बनाया गया है. समिति इस बात का पता लगाएगी कि इशरत जहां मामले में दूसरे हलफनामे का मसौदा किसने तैयार किया था और वह कैसे गायब हो गया. समिति उन सभी अधिकारियों से पूछताछ करेगी जो इस हलफनामे को बनाने की प्रक्रिया से जुड़े थे.

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>