भाजपा का उप्र में बिहार जैसा हाल होगा : राहुल गांधी

Feb 20, 2017
भाजपा का उप्र में बिहार जैसा हाल होगा : राहुल गांधी

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ चुनावी मंच साझा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोला और कहा कि उनकी भाजपा का उत्तर प्रदेश में ठीक वही हाल होने वाला है, जो बिहार में हुआ था। उन्होंने यह भी कहा, “2019 तक प्रधानमंत्री मोदी के मुंह से बिहार की तरह उत्तर प्रदेश शब्द नहीं निकलेगा।”

बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी में कांग्रेस-सपा उम्मीदवार के समर्थन में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “बिहार के विधानसभा चुनाव में गठबंधन के हाथों मिली हार के बाद से प्रधानमंत्री मोदी के मुंह से आज तक बिहार शब्द नहीं निकला, वही हाल अब उत्तर प्रदेश में होने वाला है, चुनाव के बाद मोदी वापस दिल्ली जाएंगे और 2019 तक उनके मुंह से उत्तर प्रदेश शब्द नहीं निकलेगा।”

उन्होंने गठबंधन के चलते भाजपा को होने वाले नुकसान का इशारों में जिक्र करते हुए कहा, “जब से अखिलेश और मेरी दोस्ती हुई है, तब से मोदी का मूड बदल गया है, पहले उनके चेहरे पर जो मुस्कुराहट होती थी वह गायब है। उन्हें भी पता लग गया है कि उत्तर प्रदेश में सपा-कांग्रेस की सरकार आ रही है। वे प्रचार तो कर रहे हैं, मगर जानते हैं कि गठबंधन के कारण जो हाल बिहार में हुआ था, वही यहां होने वाला है।”

राहुल ने मोदी पर ‘उद्योगपति समर्थक’ और ‘किसान विरोधी’ होने का आरोप लगाते हुए कहा, “मैंने पिछले दिनों यूपी में किसान यात्रा की थी, कांग्रेस ने दो करोड़ किसानों से फार्म भरवाए थे, किसानों की मांग थी कि कर्जा माफ, बिजली हाफ और फसल के पूरे दाम दिए जाएं। इस मसले को लेकर मैं प्रधानमंत्री से मिला और उनसे कहा कि जिस तरह आपने 50 उद्योगपतियों का एक लाख 40 हजार करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है, उसी तरह किसानों का कर्ज माफ कर दें, मगर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।”

राहुल ने मोदी पर देशवासियों से सौदेबाजी करने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा, “वे कहते हैं मुझे ये दे दो मैं तुम्हें वे दे दूंगा, लोकसभा चुनाव के समय कहा था कि प्रधानमंत्री बना दो सबके खाते में 15 लाख रुपये दूंगा, मुझे प्रधानमंत्री पद दे दो, मैं हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार दूंगा, अब कह रहे हैं कि यूपी में भाजपा को जिता दो, किसानों का कर्ज माफ कर दूंगा। प्रधानमंत्री तो किसानों से सौदेबाजी करने लगे हैं।”

राहुल ने कहा, “मोदी ने शाहरुख खान की फिल्म ‘दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ की तर्ज पर 2014 में ‘अच्छे दिन’ वाली फिल्म बनाई, मगर ढाई साल बाद जनता को पता चला कि ‘शोले’ फिल्म का गब्बर सिंह आ गया।”

प्रधानमंत्री के बयानों का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा, “मोदी जहां भी जाते हैं रिश्ता बनाते हैं, मगर निभाते नहीं। बनारस गए तो बोले मुझे गंगा मां ने बुलाया है, मैं आना नहीं चाहता था, मगर गंगा मां ने बुलाया और इसलिए आपकी मदद करने आया, उनके शब्द थे- बनारस का बेटा आया है मां की मदद करने। मोदी बता दें कि उन्होंने मां से किए कितने वादे पूरे किए हैं।”

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, “भ्रष्टाचार से लड़ने की बात कहकर नोटबंदी कर दी, देश और दुनिया के अर्थशास्त्री तक इस फैसले पर सवाल उठा रहे हैं। बच्चे तक से पूछो तो वह भी नहीं कहेगा कि भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए नोट बंद कर दो। भ्रष्टाचार से लड़ने का इरादा है तो पंजाब में भ्रष्ट बादलों के लिए प्रचार करने क्यों चले गए? “

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>