आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन देने में कोई भूमिका नहीं : उमा भारती

Mar 10, 2016

केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने कहा कि आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन के ‘वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल’ के लिए अनुमति ”देने या उसे रद्द करने” में उनके मंत्रालय की कोई भूमिका नहीं है.

दिल्ली में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए मंत्री ने कार्यक्रम की सफलता की कामना करते हुए कहा, उन्हें ”पूरा विश्वास” है कि आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर के अनुयायी ”पर्यावरण के लिए प्रतिबद्ध” हैं और कार्यक्रम से ”कोई क्षति नहीं” पहुंचेगी.

उमा भारती ने कहा, ”मैंने टीवी चैनलों पर मंत्रालय का नाम आता देखा. इसलिए मैं यह स्पष्ट करना चाहती हूं कि (कार्यक्रम के लिए) अनुमति देने या उसे रद्द करने में मेरे मंत्रालय की कोई भूमिका नहीं है. मैं पूर्ण रूप से श्री श्री रविशंकर जी के साथ हूं और कार्यक्रम के सफलता की कामना करती हूं.”

मंत्री ने कहा कि ”बाकी मुद्दों” को राष्ट्रीय हरित अधिकरण हल कर लेगा.

उन्होंने रंखांकित किया कि जिस स्थान पर कार्यक्रम होना है, यमुना का वह पूरा किनारा ”बहुत खराब स्थिति” में है और दावा किया कि कार्यक्रम के बाद ”पूरी दुनिया” के वहां आकर्षित होने से ”स्थिति सुधरेगी.”

उमा ने कहा, ”और मुझे पूर्ण विश्वास है कि यमुना और उसकी परेशानियां पर कार्यक्रम के बाद ध्यान केन्द्रित होगा. मैं कार्यक्रम की सफलता की कामना करती हूं, जो इस देश के लिए गर्व की बात है.”

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि उनका मंत्रालय ”पर्यावरण के प्रति सचेत” श्री श्री रविशंकर को केन्द्र के निर्मल गंगा मिशन से जुड़े सामाजिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेने को कहेगा.

मंत्रालय ने आज राष्ट्रीय हरित अधिकरण को सूचित किया कि उसने 11 से 13 मार्च तक होने वाले इस सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए अनुमति नहीं दी है.

 

 

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>