अरैकन रोहिंग्या राष्ट्रीय संगठन का खुलासा: म्यांमार में सैनिकों ने मारे कम से कम 150 मुसलमान

Nov 18, 2016
अरैकन रोहिंग्या राष्ट्रीय संगठन का खुलासा: म्यांमार में सैनिकों ने मारे कम से कम 150 मुसलमान

म्यांमार की सरकार ने कुछ दिनों की हिंसा के दौरान लगभग 70 रोहिंग्या मुसलमानों और 17 सैनिकों के मारे जाने की पुष्टि की है। म्यांमार के पश्चिम में स्थित राखीन प्रांत में रोहिंग्या मुसलमानों के विरुद्ध हिंसा का नया दौर पिछले 9 अक्तूबर से और कई सीमावर्ती चौकियों पर सशस्त्र व्यक्तियों के हमलों के बहाने सेना द्वारा आरंभ हुई है और वह अब भी जारी है। अरैकन रोहिंग्या राष्ट्रीय संगठन ने घोषणा की है कि पिछले पांच दिनों के दौरान म्यांमार के पश्चिम में स्थित राखीन प्रांत में इस देश के सैनिकों के हाथों कम से कम 150 मुसलमान मारे गये। वही म्यांमार की सेना का कहना है कि इन हमलों में रोहिंग्या मुसलमानों का हाथ है और इसी कारण वह राखीन प्रांत में मुसलमानों के एक-एक घर की तलाशी ले रही है। म्यांमार में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा जारी है। जब सुरक्षा परिषद सहित अंतरराष्ट्रीय संगठनों व संस्थाओं ने राखीन प्रांत में मुसलमानों की हत्या, महिलाओं से बलात्कार और उनके घरों में आग लगाये जाने पर मौन धारण कर रखा है।

वही म्यांमार की सरकार द्वारा राखीन प्रांत में न तो पत्रकारों को जाने की इजाजत है और न ही राहत बचाओ दाल को जाने की अनुमति है। मुसलमानों की हत्या व हिंसा के कारण राखीन प्रांत के मुसलमान बांग्लादेश भाग जाने को मजबूर है।

आम तौर पर यह देखा गया है की जहा युद्ध व हिंसा होती है वहां की जगहों पर पत्रकारों और राहत दलों को जाने की अनुमति देते हैं परंतु यांगून, राखीन प्रांत में इस बात को स्वीकार नहीं किया जा रहा है जो इस बात का सबूत है कि म्यांमार की सरकार राखीन प्रांत में रोहिंग्या मुसलमानों की विषम स्थिति को विश्व जनमत तक नहीं पहुंचने देना चाहती।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>