UP में ऑक्सीजन न मिलने से एक और महिला की हुई मौत, घंटों तक जमीन पर पड़ा रहा शव

Aug 24, 2017
UP में ऑक्सीजन न मिलने से एक और महिला की हुई मौत, घंटों तक जमीन पर पड़ा रहा शव

ऐसा लग रहा है कि उतार प्रदेश की सरकार सिर्फ और सिर्फ वादे करना ही जानती है। क्योंकि कई दिनों से ये मामला बड़े जोरों पर चल रहा है कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुए हादसे के बाद शायद अब सरकार होश में आ जाये मगर ऐसा कुछ भी नहीं है। बल्कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से बहुत सारे बच्चों ने अपनी जान गंवाई थी। और उसके बाद फिर बनारस के ‘सर सुंदर लाल हॉस्पिटल’ में करीब 20 मरीजों ने ऑक्सीजन न मिलने की वजह से उनकी जान चली गई।

ऐसा ही एक और मामला यूपी के कुशीनगर के सरकारी हॉस्पिटल से सामने आया है जहाँ एक सरकारी हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी से एक महिला की मौत की खबर सामने आई है।

ये भी पढ़ें :-  अयोध्या के मंदिर-मस्जिद मामले में राम मंदिर के मुख्य पक्ष महंत भास्कर दास का निधन

मिली जानकारी के अनुसार, वहां बाढ़ प्रभावित गांव पकड़ी बृजलाल निवासी बृजभान की पत्नी गंगाजली की तबीयत बुधवार को अचानक खराब हो गई तो परिवार वाले उसे गाँव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले गए। जहाँ महिला को सांस लेने में काफी दिक्क्त हो रही थी। लेकिन जब वहां के हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलेंडर न होने की वजह से वहां के डॉक्टर ने उसे जिला हॉस्पिटल में रेफर कर दिया, मगर जिस एम्बुलेंस में महिला हो जिला हॉस्पिटल ले जाया जा रहा था उसमें भी ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं था और साँस लेने में दिक्क्त होने की वजह से महिला एम्बुलेंस में पूरे रास्ते तड़पते हुए गई और हॉस्पिटल पहुंचने तक महिला की तबियत और ज्यादा खराब हो चुकी थी।

ये भी पढ़ें :-  दलित छात्र से कुत्तों की मालिश और शौचालय साफ करवाते थे स्कूल अधिकारी

लेकिन किसी तरह जब ये महिला हॉस्पिटल पहुंची तो महिला इमरजेंसी के सामने तड़पती रही। परिवार वालों ने भी डॉक्टरों को मरीज के गंभीर हालत की दुहाई भी दी। लेकिन डॉक्टरों ने न ही उस महिला को ऑक्सीजन लगाया और न ही मरीज महिला को बेड पर लिटाया। जिला हॉस्पिटल में महिला को बेड और ऑक्सीजन दोनों नसीब नहीं हुआ, वो वहीँ तड़प-तड़प कर मर गई। उसके बाद भी हॉस्पिटल प्रशासन को शर्म नहीं आई। उसी जगह महिला का शव घंटों तक जमीन पर पड़ा रहा। इस बारे में जिला हॉस्पिटल के सीएमएस लालता प्रसाद का कहना है कि ‘100 बेड की जगह करीब 175 मरीजों का लोड रहता है। इसलिए थोड़ी बहुत कमी रहती है। मामला संज्ञान मे आया है तो जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।’

ये भी पढ़ें :-  शर्मनाक: मथुरा के मंदिर में साध्वी का हुआ रेप, CCTV में कैद हुई वारदात
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>