ऐसा माहौल बनाया जाये कि लोग खुद भारत माता की जय का नारा लगायें: मोहन

Mar 28, 2016

आरएसएस के सरसंघ चालक मोहन भागवत ने कहा कि ऐसा माहौल बनाया जाये कि लोग स्वत: ही भारत माता की जय का नारा लगायें.

भारत माता की जय बोलने को लेकर चल रहे वाद-विवाद के बीच राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघ चालक मोहन भागवत ने कहा है कि ऐसा माहौल बनाया जाये कि लोग स्वत: यह नारा लगायें.

दो दिवसीय दौरे पर सोमवार को लखनऊ पहुंचे भागवत रज्जू भैया स्मृति भवन का उद्घाटन कर रहे थे. इस भवन में आरएसएस के अनुषांगिक संगठन भारतीय किसान संघ का कार्यालय है.

इस अवसर पर मौजूद संघ के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पवित्र नारे भारत माता की जय को किसी पर थोपने की जरुरत नहीं है. अपने आदर्श और कार्यों को इतनी ऊंचाई देनी है कि लोग मजबूर होकर भारत माता की जय बोलें.

आल इण्डिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी के भारत माता की जय नहीं बोलने के बाद इस नारे को लेकर उठे विवाद के बीच भागवत का इस सम्बन्ध में आया यह बयान काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

संघ प्रमुख ने कहा कि इस भवन से उसी तरह के कार्य किये जायें जिस तरह की विभूतियां इसमें रह चुकी हैं. तभी इस भवन का महत्व बढेगा. इस भवन में नाना जी देशमुख, पं. दीन दयाल उपाध्याय, अटल बिहारी बाजपेयीऔर रज्जू  भैया सरीखे नेता इसमें रूक चुके हैं.

भागवत के इस दौरे को उत्तर प्रदेश में आगामी 2017 में होने वाले विधान सभा चुनाव से भी जोडकर देखा जा रहा है. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पूर्व सरसंघ चालक प्रो. राजेन्द्र सिंह उर्फ रज्जू भैय्या के प्रयासों से 1948 में इस भवन का आवंटन हुआ था. उसी समय से संघ इसे अपने कार्यालय के रूप में उपयोग कर रहा है.

 

भारतीय जनसंघ की प्रथम स्थापना बैठक भी इसी कार्यालय में हुई थी. भारतीय किसान संघ के संरक्षक ठाकुर संकटा प्रसाद सिंह के प्रयासों  से इस भवन को 2008 में किसान संघ के नाम खरीद लिया गया. भारतीय किसान संघ के इस कार्यालय को रज्जू भैया के नाम समर्पित किया गया है.

संगठन ने भागवत के कार्यकर्ताओं से मिलने तथा गैर राजनीतिक कार्यक्रमों में भाग लेने की विस्तृत तैयारियां की हैं. हालांकि संगठन भागवत के कार्यक्रमों को गैर राजनीतिक बता रहा है लेकिन सरसंघ चालक श्री भागवत की आगामी विधान सभा चुनाव तथा अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर बंद कमरों में बातचीत करने की संभावना व्यक्त की जा रही है.

सूत्रों के अनुसार दो दिवसीय दौरे में भागवत संघ के प्रचारकों की बैठक में संगठन के साथ उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में शाखाएं बढाने पर जोर दे सकते हैं. सरसंघचालक इस दौरान किसानों से भी मुखातिब हो सकते हैं. वह माधव सेवाआश्रम और संघ की पािका राष्ट्रधर्म के कार्यक्रमों में भी शामिल होंगे.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>