राफ़ेल की डील से अंबानी की लग गई लॉटरी, रक्षा क्षेत्र में मिलेगा अरबों का ठेका

Oct 04, 2016
राफ़ेल की डील से अंबानी की लग गई लॉटरी, रक्षा क्षेत्र में मिलेगा अरबों का ठेका

राफेल विमान बनाने वाली कंपनी दसो एविएशन के साथ हुई डील में रिलायंस परिवार को सबसे ज्यादा लाभ मिला है। देश में निजी रक्षा उद्योग के क्षेत्र में हुए एक बड़े सौदे के तहत अनिल अंबानी की अगुवाई वाले रिलायंस समूह तथा राफेल विमान बनाने वाली कंपनी दसो एविएशन ने जॉइंट वेंचर लगाने की घोषणा की। सौदे के तहत 22,000 करोड़ रुपये के ‘ऑफसेट’ कॉन्ट्रैक्ट को पूरा करने में अहम भूमिका निभाएगा।

रिलायंस डिफ़ेंस को पिछले ही महीने रक्षा प्रोजेक्ट के ठेके लेने की मंज़ूरी मिली है। कई कंपनियाँ इसके लिए क़तार में थीं पर बाज़ी रिलायंस डिफ़ेंस के हाथ लगी। रिलायंस डिफ़ेंस के शेयर भाव आज लगभग साढे आठ परसेंट ऊपर उछल गए।
अनिल अंबानी की रिलायंस ने पिछले साल ही डिफेंस सेक्टर में कदम रखा है। साल भर के अंदर ही क्लियरेंस मिलने के साथ ही भारी-भरकम ठेका हाथ लग गया। भारत और फ्रांस के बीच 23 सितंबर को 36 राफेल लड़ाकू जेट के लिए समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद संयुक्त उद्यम दसो रिलायंस एयरोस्पेस गठित किए जाने की घोषणा हुई है। ‘ऑफसेट’ समझौते का मुख्य बिंदु यह है कि 74 प्रतिशत भारत से आयात किया जाएगा। इसका मतलब है कि करीब 22,000 करोड़ रुपये का सीधा कारोबार होगा।

ऑफसेट बाध्यताओं के लागू करने में संयुक्त उद्यम दसो रिलायंस एयरोस्पेस प्रमुख कंपनी होगी। बयान के अनुसार, ‘नया संयुक्त उद्यम दसो रिलायंस एयरोस्पेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया और स्किल इंडिया अभियानों को गति देगा।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>