कुमार विश्वास को भाजपा और आरएसएस का एजेंट बताने के बाद अमानतुल्‍लाह खान ने दिया इस्‍तीफा

May 02, 2017
कुमार विश्वास को भाजपा और आरएसएस का एजेंट बताने के बाद अमानतुल्‍लाह खान ने दिया इस्‍तीफा

ओखला से आम आदमी पार्टी ने विधायक व नेता अमानतुल्‍लाह खान ने अपने पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी (पीएसी) से इस्‍तीफा दे दिया है। सोमवार देर शाम मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास पर हुई बैठक में पीएसी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। इस बैठक में कुमार विश्वास शामिल नहीं हुए। वही इस बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि रविवार को जो अमानतुल्लाह खान ने कुमार विश्वास के खिलाफ बोला वो सही नहीं था। बैठक के बाद अमानतुल्लाह खान ने पीएसी से इस्तीफा दे दिया और उनके इस्तीफे को स्वीकार कर लिया गया है।

बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में अमानतुल्लाह ने कहा कि “मैंने अपनी मर्जी से कमिटी पद से इस्तीफा दिया है। मुझे लगता था की ये मेरे लिए बंधन था। लेकिन मैं आज भी अपनी उस बात पर कायम हूं कि कुमार विश्वास आरएसएस और भाजपा के इशारे पर काम कर रहे हैं और बाकायदा वो प्लांटेड हैं।”

इसके बाद अमानतुल्ला ने कहा कि, आज मैं अरविंद केजरीवाल जी से कह रहा हूं वो नहीं मान रहे। लेकिन कल उनको खुद पता चल जाएगा कि उनको आरएसएस और भाजपा ने प्लांट किया है। आज वो कार्यकर्ताओं की बात कर रहे हैं, आज वो विधायकों की बात कर रहे हैं। अमानतुल्ला ने आगे कहा कि मैं अरविंद जी से पूछना चाहता हूं कि कल जब बस्सी हमारे एक एक विधायक को पकड़ कर जेल भेज रहे थे, कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज करवा रहे थे, तो इन्होंने अपने बर्थडे में बस्सी बुलाया, अजित डोभाल को बुलाया और उनके बराबर में बैठकर केक खाया। तो आज ये कार्यकर्ताओं की बात कर रहे हैं जो कल जब बस्सी को बुलाकर बराबर में बैठकर फोटो खिंचा रहे थे तब कार्यकर्ता और विधायक कहां थे, मुझे भी उन्होंने 2 बार जेल भेजा।
इसके बाद अमानतुल्लाह ने कहा था, “मुझे लगता है ये सब भाजपा के कहने पर हो रहा है। इस काम के लिए इन्होंने चार विधायक छोड़ रखा हैं। इन चारों विधायकों का ये काम है कि वो विधायकों को कुमार जी के घर ले जाते हैं, ऐसा मुझसे 10 विधायकों ने बताया। उन्होंने अरोप लगाया था कि शनिवार को एक मंत्री के यहां चारों विधायकों की मीटिंग भी हुई।
गौरतलब है कि अमानतुल्लाह खान ने रविवार को कुमार विश्वास पर आरोप लगाया था कि वो पार्टी को तोड़ना और हड़पना चाहते हैं। अमानतुल्लाह खान ने मीडिया को दिए अपने बयान में कहा था, “कुमार विशवास जी आम आदमी पार्टी को हड़पना और तोड़ना चाहते हैं। वो अपने घर विधायकों को बुलाकर-बुलाकर ये कहते हैं कि मुझे पार्टी का संयोजक बनवाओ नहीं तो भाजपा में चलो, भाजपा हर एक को 30 करोड़ देने के लिए तैयार है, ऐसा ही योगेंद्र यादव जी भी चाहते थे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>