अलीगढ़ के दीवानी अदालत परिसर में ज़मानतदार की गोली मार कर हत्या

Jul 14, 2016

अलीगढ। थाना सिविल लाइन क्षेत्र के दीवानी कचहरी परिसर में बुधवार की दोपहर वकील की सीट पर बैठे एक व्यक्ति की बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देकर हत्यारे आसानी से भाग निकले।
घटना से आक्रोशित वकीलों ने दीवानी, कचहरी के बाहर सड़क पर जाम लगा दिया और प्रदर्शन करते हुए परिसर की सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग की। एसपी सिटी सहित अन्य पुुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए और वकीलों को सुरक्षा बढ़ाने का आश्वासन दिया। मृतक के बहनोई दलवीर की ओर से इस मामले में अज्ञात हमलावरों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया गया है।
जवां के गांव चाऊपुर निवासी ओमप्रकाश (45) पुत्र छीतर सिंह रामघाट रोड पर एटेलर की दुकान पर काम करता था। उसके परिवार में पत्नी मिथलेश, तीन बेटे लक्ष्मी कांत (20), सुनील (18), शिवा (10) तथा दो बेटियां कविता और खुशबू हैं। पुलिस के मुताबिक ओमप्रकाश क्षेत्र में झगड़ा आदि कोई विवाद होने पर जमानत लिया करता था।

ये भी पढ़ें :-  tetetet

इसी के चलते वह बुधवार को कचहरी आया था। वह कचहरी के पहले गेट (जवाहर भवन के सामने वाले) के पास ही एडवोकेट निधीश कुमार शर्मा की सीट पर बैठा हुआ था। इसी दौरान लाल रंग की मोटरसाइकिल पर आये तीन हमलावरों में सबसे पीछे बैठे हमलावर ने ओम प्रकाश को गोली मार दी जो उसके सीने में लगी। गोली मारने के बाद हमलावर तमंचा लहराते हुए उसी गेट से भाग गए। ओम प्रकाश को मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

पत्नी मिथलेश ने बताया कि उनकी किसी से रंजिश या कोई झगड़ा आदि नहीं है। उधर घटना से आक्रोशित वकीलों ने कचहरी रोड के बाहर जाम लगा दिया। वह परिसर की सुरक्षा को बेहतर करने की मांग कर रहे थे। मौके पर एसपी सिटी अतुल श्रीवास्तव और सीओ तृतीय राजीव सिंह अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ पहुंचे और भरोसा दिलाया कि दीवानी परिसर की सुरक्षा व्यवस्था बेहतर की जाएगी। इसके बात ही करीब दो घंटे बाद जाम खुला और वहां यातायात सामान्य हो सका।

ये भी पढ़ें :-  tetetet

वकीलों ने सुरक्षा की मांग की है। दीवानी परिसर की सुरक्षा को बेहतर बनाने के लिए प्रयास किया जाएगा। साथ ही घटना में जो भी हमलावर हैं उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। अधिवक्ताओं के साथ भी बैठक की जाएगी- अतुल श्रीवास्तव, एसपी सिटी
‘ओम प्रकाश मेरा क्लाइंट नहीं था। मेरे पास इसका कोई केस भी नहीं था। जिस वक्त घटना हुई मैं कोर्ट में था। वहां से जब लौटा तो प्रकरण का पता चला’
– निधीश कुमार शर्मा, एडवोकेट
‘दीवानी परिसर में जो घटना हुई है वह बेहद अफसोस जनक है। हम परिसर में सुरक्षा के मुद्दे पर गुरुवार को बैठक कर रहे हैं और साथ ही एसएसपी से भी मुलाकात कर पूरी स्थिति उनके समक्ष रखी जाएगी- विनोद कुमार अग्रवाल, अध्यक्ष, बार एसोसिएशन

ये भी पढ़ें :-  tetetet

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>