अखलाक को मारने के लिए उकसाने वाला पुजारी जमीन बेचकर गांव से गायब, पुलिस परेशान

Oct 16, 2016
अखलाक को मारने के लिए उकसाने वाला पुजारी जमीन बेचकर गांव से गायब, पुलिस परेशान
नोएडा के दादरी स्थित बिसहड़ा गांव में पिछले साल देश को हिला देने वाले अखलाक हत्याकांड का मुख्य गवाह पुजारी सुखदास संदिग्ध हाल में लापता हो गया है। जिससे नोएडा पुलिस के होश उड़ गए हैं। सबसे चौंकाने वाली बात है कि चार्जशीट में इस शख्स के नाम का जिक्र रहा मगर अब ट्रायल के गवाहों की सूची से नाम गायब हो गया है। यह वही पुजारी है, जिसने मंदिर के लाउडस्पीकर से अखलाक के घर गोमांस होने की रात में घोषणा की थी।  जिसके बाद उग्र भीड़ ने अखलाक को मौत के घाट उतार दिया।
गांव प्रधान से पुलिस ने की भागने की पुष्टि
पुलिस के मुताबिक काफी प्रयास के बाद भी हत्याकांड का मुख्य गवाह पुजारी ढूंढे नहीं मिल रहा है। ग्राम पंचायत ने पुलिस को लिखकर दे दिया है वह अपनी गांव की पूरी संपत्ति बेचकर कहीं अन्यत्र भाग गया है। अब पुलिस को कहीं से उसका सुराग नहीं मिल रहा है। जिससे पुलिस अफसर परेशान हैं।
पुजारी ने कहा था-युवकों ने जबरन कराई थी घोषणा
दरअसल इस केस में सुखदास सबसे अहम गवाह था। कारण की मंदिर के लाउडस्पीकर से उसी ने अखलाख के घर गाय का मांस होने की सूचना दी थी। हालांकि पूछताछ में सुखदास ने पुलिस को बताया था दो युवकों ने देर रात मंदिर में आकर उसे बंधक बना लिया था और जबरन अखलाख के घर गोहत्या की घोषणा कराई। जिसके बाद गुस्साई भीड़ ने अखलाक के घर पर धावा बोलकर मौत के घाट उतार दिया।
न पुलिस ने गिरफ्तार किया न बयान दर्ज किया
इस मामले में ग्रेटर नोएडा पुलिस की भारी लापरवाही देखने को मिली है। अखालक जैसे अहम मामले में मुख्य गवाह को न तो गिरफ्तार करना और न ही धारा 161 के तहत थाने में या फिर 164 के तहत कोर्ट में बयान दर्ज किया जाना पूरे केस में जिम्मेदारों की भारी लापरवाही उजागर करता है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>