अखिलेश ने चुनाव से पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली: अमित शाह

Feb 06, 2017
अखिलेश ने चुनाव से पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली: अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश में जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि अखिलेश यादव ने चुनाव से पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली है और इसीलिए उन्होंने कांग्रेस से गठबंधन कर लिया है।

उन्होंने कहा, “उप्र में गुंडाराज चल रहा है और मैं उप्र की जनता से आह्वान करता चाहता हूं कि यहां भाजपा की सरकार बनवा दीजिए, इसके बाद गुंडे 12 मार्च के बाद खुद ही प्रदेश छोड़ कर भाग जाएंगे।”

शाह ने कहा कि ये जो दो शहजादे इकट्ठे होकर घूम रहे हैं, उनमें से एक से मां परेशान है, दूसरे से पिता, और उप्र की जनता दोनों से परेशान है। उप्र की स्थिति मजबूत करनी है तो यहां भाजपा की सरकार लानी होगी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के हाथों को मजबूत करना होगा।

शाह ने कहा कि ये चुनाव किसी को विधायक बनाने का नहीं, किसी को मंत्री बनाने का नहीं है और मुख्यमंत्री बदलने का चुनाव नहीं है, ये चुनाव उप्र का भाग्य बदलने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि पिछले 15 साल से सपा बसपा की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर के रख दिया है। पंद्रह साल का समय किसी व्यक्ति के जीवन में बहुत बड़ा समय होता है, किसी प्रदेश के लिए भी ये बहुत बड़ा समय होता है पर इन पंद्रह सालों ने उप्र को बहुत पीछे कर दिया है।

शाह ने कहा कि भाजपा शासित प्रदेशों में हर घर में चैबीस घंटे बिजली पहुंच रही है, लेकिन उप्र में लोग बिजली के लिए तरसते हैं। गांवों में सड़क नहीं है, दवाएं नहीं मिलती, युवाओं को रोजगार नहीं मिलता, किसानों की धान खरीद नहीं होती।

शाह ने कहा, “अखिलेश जी पूछते हैं कि उप्र के अच्छे दिन कब आएंगे, मैं कहता हूं कि 11 मार्च से उप्र के अच्छे दिन शुरू होने वाले हैं। जनता जिस दिन अखिलेश जी को मुख्यमंत्री की कुर्सी से उतारेगी, उसी दिन से उप्र के अच्छे दिन की शुरुआत होने वाली है। आज चारों तरफ गुंडागर्दी, लूट, खून बलात्कार हो रहा है ऐसे में प्रदेश का कैसे विकास हो सकता है।”

शाह ने कहा कि उप्र रोजगार में नंबर एक आ सकता था, बिजली पहुंचाने में नंबर एक आ सकता था, पानी देने में नंबर एक आ सकता था, महिलाओं को गैस देने, अस्पताल खोलने और गरीबों को दवा देने में नंबर एक आ सकता था, लेकिन अखिलेश जी ने नंबर एक बना दिया हत्याओं में, बलात्कार में। उप्र में हर रोज 13 हत्याएं होती हैं, यहां हर रोज 26 महिलाओं के साथ अत्याचार होता है। अपहरण, फिरौती, और 200 दंगे पिछले पांच सालों में हुए। ऐसे में अखिलेश सरकार राज्य का विकास नहीं कर सकती।

उन्होंने कहा, “देश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार उत्तर प्रदेश की जनता के आशीर्वाद से ही बनी है। उत्तर प्रदेश की महान जनता ने हमें 73 सीटें दी हैं। मोदी जी भी वाराणसी से सांसद हैं, वह उप्र के हैं। सरकार बनने के बाद हर साल नरेंद्र मोदी जी ने उप्र को एक लाख करोड़ रुपये ज्यादा भेजा है। ढाई सालों में कुल ढाई लाख करोड़ रुपये भेजा है। पर ये पैसा जनता तक नहीं पहुंचा क्यूंकि ये सारा पैसा अखिलेश सरकार ने भ्रष्टाचार में उड़ा दिया। और अखिलेश जी अब कहते हैं कि हम सुधर गए हैं, अच्छी सरकार देंगे।”

उन्होंने कहा, “मैं जनता से आह्वान करता हूं कि चाचा भतीजे के चक्कर में मत पड़िए, ये सब एक हैं। शिवपाल जी भी वहां हैं, अतीक भी वहां हैं, गायत्री प्रजापति भी वहां है, आजम खां भी वहां हैं। इसका मतलब है कि कुछ भी नहीं बदला। अखिलेश उप्र की जनता की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश कर रहे हैं। पर उत्तर प्रदेश की जनता सबकुछ समझ चुकी है।”

उन्होंने जनता से आह्वान किया कि आपने कांग्रेस, सपा और बसपा को बारी-बारी से मौका दिया। एक मौका हमें भी दिया था जब आदरणीय कल्याण सिंह जी की सरकार बनी थी। इस सरकार को जनता आज भी याद करती है। इसीलिए एक मौका भारतीय जनता पार्टी को दीजिए, नरेंद्र मोदी जी को दीजिए, हम उप्र को नंबर वन प्रदेश बना देंगे। शाह ने रविवार को सूबे के जनपद अमरोहा, शामली और जीबी नगर में चुनावी जनसभाओं को सम्बोधित किया।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>