अखिलेश के आगे फिर झुके मुलायम, बोले-विवाद ही नहीं तो समझौता कैसा

Jan 08, 2017
अखिलेश के आगे फिर झुके मुलायम, बोले-विवाद ही नहीं तो समझौता कैसा
समाजवादी पार्टी के दो भागों में बंटने के बाद  साइकिल चुनाव चिह्न जब्त होने का खतरा मंडराया तो मुलायम को सुलह की चिंता हो गई।  अब बेटे अखिलेश के आगे घुटने टेकने का फैसला लिया है। कहा  जा रहा है कि मुलायम शिवपाल को साथ लेकर चुनाव आयोग चिह्न पर अपने दावे को वापस लेने के लिए गए हैं।
विवाद पर पर्दा डालने की कोशिश
पिछले 15 दिन से जारी कलह के बाद अब मुलायम विवाद पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं। कह रहे हैं कि पार्टी में कभी विवाद था ही नहीं, ऐसे में समझौते की बात कहा है। यानी मुलायम चालाकी दिखाकर पार्टी की कलह को ढांकने का प्रयास कर रहे हैं। दरअसल समाजवादी पार्टी के दो सौ से ज्यादा विधायक अखिलेश के समर्थन में हैं। ऐसे में चुनाव आयोग के सामने साइकिल चुनाव चिह्न पर अखिलेश का कानूनी रूप से दावा मजबूत है। दूसरे अपने ही पार्टी में मुलायम को राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी खतरे में पड़ गई। अखिलेश ने विधायकों के दम पर तख्तापलट कर दिया। ऐसे में करीबियों से विचार विमर्श के बाद मुलायम ने फैसला लिया कि भले ही अखिलेश सारे फैसले करें, मगर पार्टी टूटने से दोनों पक्षों को नुकसान होगा। ऐसे में कहा जा रहा है कि पिता मुलायम सिंह यादव चुनाव आयोग में अपनी ओर से दाखिल की गई याचिका को वापस ले सकते हैं। ताकि उनके बेटे अखिलेश यादव का राजनीतिक  कैरियर सुरक्षित रह सके
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>