अकाल तख्त की सिख समुदाय से RSS से दूर रहने की अपील, बताया- सिख विरोधी

Oct 25, 2017
अकाल तख्त की सिख समुदाय से RSS से दूर रहने की अपील, बताया- सिख विरोधी

अकाल तख्त के जत्‍थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने सिख समाज से 25 अक्टूबर को नई दिल्ली में आरएसएस की शाखा राष्ट्रीय सिख संगत की ओर से आयोजित किए जाने वाले धार्मिक कार्यक्रम से दुरी बनाते हुए सिख समुदाय से भी इस कार्यकर्म से दूर रहने को कहा है।

बता दें कि राष्ट्रीय सिख संगत यह कार्यक्रम श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के 350वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में आयोजित कर रही है। इस प्रोग्राम में देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत भी हिस्सा लेंगे। इस प्रोग्राम में ज्यादा से ज्यादा सिखों को जोड़ने की कवायद चल रही थी। लेकिन अब ऐसा माना जा रहा है कि इससे अकाली और बीजेपी के रिश्तों में खटास पैदा हो सकती है।

अकाल तख्त के जत्‍थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने सिख समाज से सिख समुदाय को निर्देश दिया कि वह समारोह में भाग न लें। ज्ञानी गुरबचन सिंह ने सोमवार को एक प्रेस वक्तव्य जारी करते हुए कहा कि “हम सिख इतिहास को अन्य धर्मों में मिलाने की अनुमति नहीं दे सकते। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। सिख एक अलग समुदाय है, अलग पहचान के साथ हमारे पास अपना अनूठा इतिहास है। सिख समाज अन्य समुदायों के धार्मिक विश्वासों, परंपराओं और इतिहास में हस्तक्षेप नहीं करता है और इसलिए वे सिख धर्म में भी हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करेगा।”

हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है। इससे पहले अकाल तख्त साहिब ने 2004 में हुकमनामा जारी कर कहा था कि वह आरएसएस और राष्ट्रीय सिख संगत को सिख विरोधी मानती है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>