एयर मार्शल बी एस धनोआ ने दी महिला लड़ाकू पायलटों को चार साल तक मां ना बनने की सलाह

Mar 12, 2016

वायु सेना ने लड़ाकू पायलट का प्रशिक्षण ले रही अपनी तीन अधिकारियों को कमीशन के बाद चार साल तक मां बनने से बचने की सलाह दी है.

वायु सेना उप प्रमुख एयर मार्शल बी एस धनोआ ने एक प्रमुख अंग्रेजी दैनिक को दिये साक्षात्कार में कहा है कि इन अधिकारियों को यह सलाह इसलिए दी गयी है जिससे कि उनका उडान कार्यक्रम प्रभावित न हो. साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि यह केवल सलाह है और इसमें किसी तरह की बाध्यता नहीं है.

वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल अरूप राहा ने तीन दिन पहले अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर कहा था कि प्रशिक्षण ले रहे लड़ाकू महिला पायलटों के पहले दस्ते को आगामी 18 जून को कमीशन मिल जायेगा.

वायु सेना की इस सलाह से एक बार फिर से वही विवाद पैदा हो सकता है जो कुछ साल पहले वायु सेना उप प्रमुख एयर मार्शल पी के बारबोरा के बयान से पैदा हुआ था. जब एयर मार्शल बारबोरा ने भी इसी तरह की बात कही थी तो कई महिला संगठनों ने इसका कडा विरोध किया था. एयर मार्शल बारबोरा ने कहा था कि महिलाएं लड़ाकू पायलट बन सकती हैं लेकिन इसकी कुछ शत्रें हैं जैसे वे वैवाहिक जीवन जी सकती हैं लेकिन उन्हें कुछ वर्षों तक मां बनने से बचना होगा.

उन्होंने कहा था कि यदि कोई लड़ाकू पायलट बनता है तो वायुसेना उसका अधिक से अधिक इस्तेमाल करना चाहेगी क्योंकि उसके प्रशिक्षण पर भारी भरकम राशि खर्च की जाती है.

वायु सेना अभी तीन महिला कैडेटों भावना कंठ, मोहाना सिंह और अवनी चतुर्वेदी को लड़ाकू पायलट का प्रशिक्षण दे रही है. वायुसेना में महिला लडाकू पायलट शामिल करने का निर्णय गत अक्टूबर में लिया गया था.

 

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>