लड़ाई के बाद अखिलेश ने शिवपाल सिंह के छुए पैर, फिर भी चाचा के भाषण में दिखी तल्खी

Nov 05, 2016
लड़ाई के बाद अखिलेश ने  शिवपाल सिंह के छुए पैर, फिर भी चाचा के भाषण में दिखी तल्खी

समाजवादी पार्टी के 25 साल पूरे होने पर आयोजित रजत जयंती समारोह में सबसे कौतूहल तब रहा जब अखिलेश अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव का पैर छूने के लिए लपके। उन्होंने पैर छुआ। फिर भी चाचा अपनी हरकत से बाज नहीं आए। जब भाषण देने की बारी आई तो उन्होंने पार्टी में अपने विरोधियों पर वार करने में कोई कसर बाकी नहीं रखी। दरअसल मंच पर सबकी निगाहें चाचा-भतीजे की तल्खियों पर ही टिकी थीं, क्योंकि इससे पहले विकास रथ यात्रा समारोह में मुख्यमंत्री अखिलेश ने अपने संबोधन में चाचा का नाम नहीं लेकर नाराजगी जारी रखने का संकेत दिया था।

जब लालू ने चाचा-भतीजे का हाथ मिलवाया तो अखिलेश ने छुए पैर

दरअसल, रजत जयंती समारोह में चाचा-भतीजे के बीच की तल्खियां दूर हुईं हैं या नहीं। लेकिन राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने जब चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश का हाथ पकड़कर मिलाने की कोशिश की तो अखिलेश ने झुक कर झट से चाचा के पैर छू लिये। वहीं सपा के रजत जयंती समारोह में हिस्सा लेने आये पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौडा ने भी शिवपाल और अखिलेश के हाथ विजयी मुद्रा में उठवाकर लोगों का अभिवादन कराया।

थोडी सी अखिलेश की तारीफ जरूर चाचा ने की
शिवपाल ने जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण के लिए भतीजे की जमकर तारीफ की। उन्होंने अपने स्वागत भाषण में साफ किया कि वह मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते। मुख्यमंत्री के रूप में अखिलेश ने अच्छा काम किया है। साथ ही कहा कि जो सपा का काम नहीं करेगा, उसे पद पर नहीं रहना चाहिए। पद उसी के पास रहना चाहिए जो ईमानदारी से काम करे और जिसके मन में त्याग की भावना है। साथ ही उन्होंने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से स्पष्ट कहा कि अनुशासनहीनता किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>