सात फेरे लेने के बाद दोनों के बीच पति-पत्नी जैसे संबंध नहीं बन पाए..क्‍योंकि

Apr 11, 2017
सात फेरे लेने के बाद दोनों के बीच पति-पत्नी जैसे संबंध नहीं बन पाए..क्‍योंकि

आज के समय को देखते हुए पता लगता हैं कि कैसे कोई किसी पर भरोसा कर सकता है। भारत में कई मामले ऐसे होतें हैं जो की सिर्फ शक की नज़रों में आकर ख़त्म हो जाते हैं। आपको बता दें कि भारत में कई शादियां रोज़ घटिया सोच या शक पर ही टूटती हैं। अब हम आपको एक मामला बताने जा रहें हैं जोकि कुछ इसी तरह है शादी होने के बाद भी एक नहीं हुए पति पत्नी एक साल से नहीं बनाए संबंध। घटना मध्य प्रदेश के ग्वालियर की है जहां सात फेरों से पहले मेहंदी के दिन सहेली के मोबाइल पर आए पति के मैसेज से शुरू हुई गलतफहमी से पति-पत्नी एक साल बाद भी एक नहीं हो पाए हैं। नवदंपति के बीच हुई गलतफहमी को दूर करने के लिए 4 बार काउंसलिंग हो चुकी है, लेकिन दोनों के बीच सुलह नहीं हो रही है। युवती पति के घर जाना चाहती है, लेकिन पति का कहना है कि अगर इसने घर आने के बाद आत्मघाती कदम उठा लिया तो कौन जिम्मेदार होगा? महिला थाना प्रभारी ने पांचवीं बार काउंसलिंग के लिए पति-पत्नी को शुक्रवार को बुलाया है।

जनसुनवाई में पिता के साथ आई युवती ने आवेदन दिया और बताया कि एक साल पहले उसकी शादी भिंड में रहने वाले युवक से हुई थी। शादी से पहले मेहंदी वाले दिन सहेली के मोबाइल पर उसके पति का मैसेज आया था। तभी से गलतफहमी हो गई।

सात फेरे लेने के बाद दोनों के बीच पति-पत्नी जैसे संबंध नहीं बन पाए। जो संदेह युवती को था वही संदेह पति को भी हो गया। पति के साथ रहना चाहती है पत्नी-पत्नी का कहना है कि वह पति के साथ रहना चाहती है, लेकिन वह अब किसी भी कीमत पर साथ रखने के लिए तैयार नहीं है। 4 बार हो चुकी है काउंसलिंग- महिला थाना प्रभारी अनीता मिश्रा के सामने दोनों के बीच गलतफहमी दूर करने के लिए 4 बार काउंसलिंग हो चुकी है, लेकिन दोनों को एक करने में सफलता नहीं मिली। दोनों को मिलाने के लिए एक बार फिर शुक्रवार को काउंसलिंग करने के लिए बुलाया जाएगा।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>