सुखद परिणाम मिलने के बाद cctv कैमरों को डीटीसी की सभी बसों में लगाने का फैसला

Jun 10, 2016

दिल्ली सरकार की दिल्ली परिवहन की सभी बसों में cctv कैमरा लगाने की महत्वकांशी योजना को अंतिम रूप दे दिया गया है. दिल्ली परिवहन की सारी बसों में cctv कैमरों को लगाने से पहले इसका ट्रायल किया गया जिसके सुखद परिणाम मिलने के बाद cctv कैमरों को सभी बसों में लगाने का फैसला किया गया है.

ट्रायल के तौर पर 200 बसों में लगे थे cctv

सबसे पहले ये ट्रायल दिल्ली परिवहन की 200 में किया गया. दिल्ली परिवहन निगम ने ट्रायल पूरा होने के बाद पाया की बसों में cctv लगने से बसों में होने वाले अपराधो में कमी आई है वही महिलाये भी अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रही है. दिल्ली परिवहन निगम ने बताया के ट्रायल के सफल होने के पश्चात हमने दिल्ली परिवहन की सभी बसों में cctv लगाने का फैसला किया है. इसके लिए ड्राफ्ट बनाकर दिल्ली सरकार को भेज दिया गया है.

अगले महीने से सभी बसों में लगने शुरू हो जायेंगे cctv कैमरा

दिल्ली परिवहन ने उम्मीद जतायी है की दिल्ली सरकार की मंजूरी मिलने के बाद बसों में cctv लगाने का काम शुरू हो जायेगा. दिल्ली परिवहन का मानना है की इसमें एक महीने का समय लग सकता है.

चुनाव के दौरान केजरीवाल ने किया था वादा, cctv से बसों में कम हुए है अपराध

दिल्ली में महिलाओ की सुरक्षा को देखते हुए केजरीवाल ने चुनावो में डीटीसी की बसों में cctv कैमरे लगाने का वादा किया था. इस वादे को निभाते हुए केजरीवाल सरकार ने ट्रायल के तौर पर रोहिणी और राजघाट डिपो की 200 बसों में cctv कैमरे लगवाए. ट्रायल के दौरान डीटीसी ने पाया की cctv कैमेरो की वजह से बसों में होने वाले अपराधो में कमी आई है. बसों में होने वाली चोरी, जेब कटना और छेड़खानी जैसी घटनाओ में आश्चर्यजनक रूप से कमी आई है.

अगले साल तक डीटीसी के पास रह जाएँगी केवल लो फ्लोर बसे

फ़िलहाल डीटीसी के पास कुल 4226 बसे है जिनमे से 3781 बसे लो फ्लोर की है. डीटीसी ने जो प्रस्ताव सरकार को भेजा है उसमे सिर्फ लो फ्लोर की बसों में cctv कैमरे लगाने का प्रस्ताव है. डीटीसी का तर्क है की अगले साल तक सभी पुरानी बसे बेड़े से हटा ली जाएँगी इसलिए इनमें cctv नही लगाये जायेंगे.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>