मोदी का इशारा पाकर केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने भी बढ़ाई यूपी में सक्रियता, हो सकते हैं सीएम दावेदार

Oct 17, 2016
मोदी का इशारा पाकर केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने भी बढ़ाई यूपी में सक्रियता, हो सकते हैं सीएम दावेदार
केंद्रीय संचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा की अचानक यूपी की राजनीति में बढ़ी सक्रियता से अटकलें लगनी शुरू हो गईं हैं।  जिस तरह से समाजवादी पार्टी के खिलाफ उनकी ओर से हमले किए जा रहे, उससे पता चल रहा है कि वे भी भाजपा की ओर से सीएम रेस में शामिल हैं।  बतौर संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा कई मीडिया संस्थानों को यूपी चुनाव को लेकर इंटरव्यू भी देने में जुटे हैं।  दो दिन पहले ईटीवी यूपी एडिटर ब्रजेश मिश्रा को दो दिन पहले इंटरव्यू दिया, फिर अब जाकर इकोनॉमिक टाइम्स से बातचीत में भी समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला। इससे अटकलें लगनी लाजिमी हैं।
कौमी एकता दल गुंडों की पार्टी
इकोनॉमिक टाइम्स के इंटरव्यू में मनोज सिन्हा ने सत्ताधारी सपा के साथ कौमी एकता दल के गठबंधन का चुनाव में असरहीन बताया। कहा कि कौमी एकता दल कोई राजनीतिक दल नहीं गुंडों की पार्टी है। यह गठबंधन बनारस में कोई छाप नहीं छोड़ सकता। मुख्तार अंसारी का भी गाजीपुर या बनारस  में कोई आधार नहीं है। मुलायम और मुख्तार का चरित्र एक है। मनोज सिन्हा ने कहा कि भाजपा विधायक कृष्णानंद की मुहम्मदाबाद की सीट इस बार भाजपा जीतेगी।
1991 से ज्यादा सीटे आएंगी
मनोज सिन्हा कहते हैं कि यूपी में भाजपा की लहर चल रही है। सपा को सबने देख लिया। बसपा का कटु अनुभव जनता पहले ले चुकी है। 2014 में लोकसभा चुनाव में जो बंपर लहर थी,वही अब भी है। 1991 से ज्यादा सीटें पार्टी इस बार जीतेगी। भाजपा दो तिहाई बहुमत से सरकार बनाने जा रहे है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>